अस्सी घाट से ललिता घाट तक नौका विहार कर सकेंगे पर्यटक


दैनिक कानपुर उजाला 
वाराणसी। देव दीपावली पर प्रधानमंत्री खुद भी दीपदान करेंगे। फिर क्रूज पर बैठकर मां गंगा की गोद से अर्धचन्द्राकार घाटों पर जल रहे दीपों का नयनाभिराम नजारा देखेंगे, जो मां गंगा के गले में दीपों का हार जैसा प्रतीत होगा। पीएम मोदी चेत सिंह घाट पर लाइट एंड साऊंड के जरिये पौराणिक प्रसंग पर आधारित कार्यक्रम का लेजर शो भी देखेंगे। इसके बाद वह श्री काशी विश्वनाथ धाम के काम की प्रगति भी देखेंगे और काशी पुराधपति के दर्शन भी करेंगे। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को देखते हुए प्रशासन ने सुरक्षा की दृष्टि के चलते किसी भी तरह के ड्रोन उड़ाने पर 1 दिसम्बर तक प्रतिबंध लगा दिया है। पर्यटक एवं श्रद्धालु इस साल अस्सी घाट से ललिता घाट तक नौका विहार कर सकेंगे। ललिता घाट से राजघाट तक उच्च स्तरीय सुरक्षा के कारण जनसामान्य के लिए नौकायन शाम 6:30 बजे के बाद चालू होगा। सुरक्षा के लिए प्रत्येक नाव में सवार होने वाले यात्रियों की चेकिंग जाएगी। जो संस्थाएं पारंपरिक रूप से घाटों पर आरती या सांस्कृतिक कार्यक्रम करती हैं, वे इस बार भी उत्साह से कार्यक्रम कर सकती हैं। तेज आवाज में डीजे नही बजाएं जाएंगे। केवल एक घाट पर सुनाई दे इतनी ही आवाज में आरती या कार्यक्रम होंगे।


Popular posts from this blog

कोतवाली में मादा बंदर ने जन्मा बच्चा

मुख्यमंत्री आज होम गार्ड्स स्थापना दिवस के अवसर पर रैतिक परेड में सम्मिलित होंगे

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित