धान क्रय केन्द्रों को नियमित व सुचारु ढंग से संचालित किया जाए : मुख्यमंत्री


दैनिक कानपुर उजाला


लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा है कि राज्य सरकार के लिए किसानों का हित सर्वाेपरि है। इसे ध्यान में रखकर मूल्य समर्थन योजना के अन्तर्गत धान खरीद प्रक्रिया पूरी सक्रियता से संचालित की जाए। उन्होंने सभी क्रय केन्द्रों के नियमित व सुचारु संचालन पर बल देते हुए कहा कि किसान की उपज का भुगतान 72 घण्टे के अन्दर सुनिश्चित किया जाए। मुख्यमंत्री योगी  शनिवार को अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्च स्तरीय बैठक में विभिन्न विभागों के कार्याें की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार प्रारम्भ से ही किसानों के कल्याण एवं हित के लिए प्रतिबद्ध है। प्रदेश सरकार ने कार्यभार ग्रहण करते ही किसानों के 36 हजार करोड़ रुपए के ऋण माफी का निर्णय लिया। कोरोना काल में भी प्रदेश की सभी 119 चीनी मिलों का संचालन कराया गया। सिंचाई की सुविधा सुनिश्चित करने के लिए दशकों से लम्बित सिंचाई परियोजनाओं को प्राथमिकता पर पूर्ण कराया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि कार्यालयों में समय से अधिकारियों व कर्मचारियों की उपस्थिति पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि इसके सत्यापन के लिए समय - समय पर निरीक्षण किया जाए। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि सभी अधिकारी सीयूजी मोबाइल फोन पर रिस्पाॅण्ड करें। अपरिहार्य कारणों से यदि काॅल अटेण्ड नहीं कर पा रहे तो बाद में काॅल बैक करें। बैठक में मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक टण्डन, कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा, पुलिस महानिदेशक हितेश अवस्थी, अपर मुख्य सचिव एमएसएमई एवं सूचना नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी, अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज एवं ग्राम्य विकास मनोज कुमार सिंह, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य आलोक कुमार, सूचना निदेशक शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद