गोपाष्टमी का पर्व हम सभी को गोमाता की सेवा करने की प्रेरणा देता है : योगी आदित्यनाथ

> गोपाष्टमी के अवसर पर मुख्यमंत्री जनपद मीरजापुर के गो-आश्रय स्थल में आयोजित कार्यक्रम में सम्मिलित हुए।


> मुख्यमंत्री ने गो-पूजन किया तथा लोगों को गोपाष्टमी के पावन अवसर पर शुभकामनाएं दीं।


> मुख्यमंत्री ने 11 कुपोषित बच्चों के अभिभावकों को निराश्रित गो-आश्रय स्थल से एक-एक गाय प्रदान की।


> मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के स्वयं सहायता समूहों की महिला सदस्यों को 1,00,910 स्कूल यूनीफाॅर्म की सिलाई के पारिश्रमिक का 01 करोड़ 11 लाख रु0 का चेक प्रदान किया।


> मुख्यमंत्री ने महिला स्वयं सहायता समूह की सदस्यों को आजीविका वाहन की प्रतीकात्मक चाभी प्रदान की।


> मुख्यमंत्री ने बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग के ड्राई राशन वितरण कार्यक्रम के 11 लाभार्थियों को राशन किट वितरित किया।


> मुख्यमंत्री को एक जनपद, एक उत्पाद योजना के तहत जनपद मीरजापुर का विशिष्ट उत्पाद कालीन भेंट किया गया।


> मुख्यमंत्री ने मण्डलायुक्त एवं जिलाधिकारी से विंध्य काॅरिडोर सहित जनपद में संचालित विभिन्न विकास योजनाओं की प्रगति की जानकारी प्राप्त की।



मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी 22 नवंबर 2020 को महिला स्वयं सहायता समूह की सदस्यों को आजीविका वाहन की प्रतीकात्मक चाभी प्रदान करते हुए।



मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी 22 नवंबर 2020 को मां विंध्यवासिनी की पूजा अर्चना करते हुए। 



मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी 22 नवंबर 2020 को गोपाष्टमी के पर्व पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा कुपोषित बच्चों को निराश्रित दुधारू गाय और ड्राई राशन वितरित करते हुए।



मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी 22 नवंबर 2020 को गोपाष्टमी के पावन पर्व पर पुरोहित पंडितों द्वारा पूरे विधि-विधान से टांडा फाल के पास स्थित गौशाला में गौ माता का पूजन करते हुए। 



मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी 22 नवंबर 2020 को अष्टभुजा डाक बंगले पर विंध्य कॉरिडोर के संबंध में आयोजित बैठक में प्रतिभाग करते हुए साथ में हैं केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, सांसद मिर्जापुर अनुप्रिया पटेल, विधायक मिर्जापुर रत्नाकर मिश्रा, जिलाधिकारी सुशील पटेल, विंध्याचल मण्डलायुक्त प्रीती शुक्ला, आईजी रेंज मिर्जापुर पियूष श्रीवास्तव व अन्य।


दैनिक कानपुर उजाला 


लखनऊ।  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा है कि राज्य सरकार ने कुपोषित बच्चों के परिवारों के लिए एक विशेष योजना लागू की है, जिसके माध्यम से ऐसे परिवारों को गो-आश्रय स्थल से दुधारू गाय दी जा रही है। यह योजना समाज व राष्ट्र के भविष्य को उज्ज्वल बनाने की प्रक्रिया का एक अंग है। बच्चे का स्वस्थ बनाना परिवार के साथ-साथ समाज व राष्ट्र की भी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि जब बच्चे स्वस्थ होंगे, तब समाज व राष्ट्र भी स्वस्थ एवं मजबूत होगा। मुख्यमंत्री योगी  रविवार 22 नवंबर को गोपाष्टमी के अवसर पर जनपद मीरजापुर के टांडा फाॅल स्थित गो-आश्रय स्थल में आयोजित कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने 11 कुपोषित बच्चों के अभिभावकों को निराश्रित गो-आश्रय स्थल से एक - एक गाय प्रदान की। मुख्यमंत्री ने गोपाष्टमी के अवसर पर यहां गो-पूजन किया तथा लोगों को इस पावन अवसर पर अपनी शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री ने माँ विंध्यवासिनी को नमन कर अपने सम्बोधन की शुरुआत करते हुए कहा कि सड़कों व खेतों पर विचरण करने वाली निराश्रित गायों को संरक्षण प्रदान करने के लिए गो-आश्रय स्थल पर उनकी देखभाल की व्यवस्था की गयी है। गो-आश्रय स्थल से गाय प्राप्त कर उसकी देखभाल करने के इच्छुक किसानों व पशुपालकों को प्रदान करने की योजना लागू की गयी है। गाय के पालन के लिए 900 रुपये प्रति माह प्रदान करने की व्यवस्था भी की गयी है। अब तक 65 हजार किसानों तथा गोपालकों को गाय उपलब्ध करायी जा चुकी है। बड़ी संख्या में कुपोषित परिवारों को दुधारू गाय प्रदान की गयी है। गोपाष्टमी का पर्व हम सभी को गोमाता की सेवा करने की प्रेरणा देता है। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के स्वयं सहायता समूहों की महिला सदस्यों द्वारा तैयार की गयीं 1,00,910 स्कूल यूनीफाॅर्म के सिलाई पारिश्रमिक की 01 करोड़ 11 लाख रुपये की धनराशि का चेक स्वयं सहायता समूहों की सदस्यों को प्रदान किया। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के समूहों के इस कार्य की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे जहां एक ओर स्थानीय स्तर पर स्कूल ड्रेस की सिलाई सम्भव हो पा रही है, वहीं दूसरी ओर इसके माध्यम से महिलाओं को आजीविका उपलब्ध कराते हुए उनकी आर्थिक स्थिति का सुदृढ़ीकरण भी हो रहा है। महिला सशक्तीकरण की दिशा में यह एक महत्वपूर्ण कदम है। उन्होंने कहा कि महिलाएं स्वावलम्बी होती हैं तो पूरा समाज और परिवार भी स्वावलम्बी होता है। मुख्यमंत्री ने बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग के ड्राई राशन वितरण कार्यक्रम के अन्तर्गत 11 लाभार्थियों को राशन किट भी प्रदान की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी को एक जनपद, एक उत्पाद योजना के तहत जनपद मीरजापुर का विशिष्ट उत्पाद कालीन भेंट किया गया। मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए आजीविका वाहन की प्रतीकात्मक चाभी स्वयं सहायता समूह की सदस्यों को प्रदान की। जनपद मीरजापुर भ्रमण के दौरान योगी जी ने अष्टाभुजा निरीक्षण गृह में मण्डलायुक्त एवं जिलाधिकारी से विंध्य काॅरिडोर सहित जनपद में संचालित विभिन्न विकास योजनाओं की प्रगति की जानकारी प्राप्त की। योगी जी ने माँ विंध्यवासिनी देवी का दर्शन-पूजन भी किया। मुख्यमंत्री के जनपद भ्रमण कार्यक्रम के अवसर पर ऊर्जा राज्यमंत्री रमाशंकर सिंह पटेल सहित अन्य जनप्रतिनिधि तथा शासन-प्रशासन के अधिकारीगण उपस्थित थे। 


Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद