प्रत्येक स्तर पर जवाबदेही तय की जानी चाहिए : मुख्यमंत्री

> मुख्यमंत्री ने रैन बसेरों के संचालन में कोविड-19 से बचाव के लिए सभी प्रबन्ध करने के निर्देश दिये।


> मल्टी मोडल टर्मिनल के मार्ग पर आवागमन को सुगम एवं सुचारू बनाने के लिए बेहतर व्यवस्था बनायी जाए : मुख्यमंत्री 


अधिकारी नियमित तौर पर कार्यालय में जनता से भेंट करें .....


मुख्यमंत्री जी ने कहा कि अनुपलब्धता की स्थिति में वैकल्पिक व्यवस्था के तहत किसी अन्य अधिकारी को इस कार्य के लिए नामित किया जाए। 


दैनिक कानपुर उजाला


लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने जनसमस्याओं के गुणवत्तापूर्ण निस्तारण के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा है कि प्रत्येक जनपद में जिलाधिकारी द्वारा जनता की समस्याओं और शिकायतों के निस्तारण की नियमित समीक्षा की जाए। उन्होंने सम्पूर्ण समाधान दिवस (तहसील दिवस) तथा थाना दिवस को और प्रभावी बनाने के निर्देश देते हुए कहा कि इस सम्बन्ध में प्रत्येक स्तर पर जवाबदेही तय की जानी चाहिए। मुख्यमंत्री योगी रविवार 29 नवंबर को अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्च स्तरीय बैठक में विभिन्न विभागों के कार्याें की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने निर्देश दिये कि वरिष्ठ अधिकारीगण जनपदों का भ्रमण कर वहां विकास एवं जनकल्याणकारी योजनाओं के संचालन की मौके पर जानकारी प्राप्त करें। भ्रमण के दौरान अधिकारीगण क्षेत्र की जनता से भेंट कर उनकी समस्याओं को सुनें तथा विभिन्न योजनाओं के सम्बन्ध में फीडबैक भी प्राप्त करें। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए की कार्यालयों में अधिकारी एवं कर्मचारी समय से उपस्थित हों। उन्होंने निर्देश दिये कि अधिकारी नियमित तौर पर कार्यालय में जनता से भेंट करें। अपरिहार्य कारणवश कार्यालय में उनकी अनुपलब्धता की स्थिति में वैकल्पिक व्यवस्था के तहत किसी अन्य अधिकारी को इस कार्य के लिए नामित किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि रैन बसेरों में सभी आवश्यक सुविधाओं के साथ सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। उन्होंने रैन बसेरों के संचालन में कोविड-19 से बचाव के लिए सभी प्रबन्ध करने के निर्देश भी दिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि वाराणसी में मल्टी मोडल टर्मिनल के मार्ग पर आवागमन को सुगम एवं सुचारू बनाने के लिए बेहतर व्यवस्था बनायी जाए। उन्होंने कहा कि अयोध्या में विभिन्न विकास योजनाओं को तेजी से क्रियान्वित किया जाए। बैठक में मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक टण्डन, कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक हितेश अवस्थी, अपर मुख्य सचिव एमएसएमई एवं सूचना नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव राजस्व रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी, अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज एवं ग्राम्य विकास मनोज कुमार सिंह, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य आलोक कुमार, सचिव मुख्यमंत्री आलोक कुमार, सूचना निदेशक शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद