राज्य विश्वविद्यालय, सहारनपुर में राजकीय महाविद्यालय, पुँवारका, सहारनपुर को आमेलित किए जाने सम्बन्धी प्रस्ताव स्वीकृत


दैनिक कानपुर उजाला


लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की अध्यक्षता में मंगलवार को मंत्रिपरिषद द्वारा महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। मंत्रिपरिषद ने राज्य विश्वविद्यालय, सहारनपुर में राजकीय महाविद्यालय, पुँवारका, सहारनपुर को आमेलित किए जाने सम्बन्धी प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान कर दी है। इसके तहत राजकीय महाविद्यालय पुँवारका की 5.91 एकड़ भूमि तथा उस पर स्थित भवन एवं परिसम्पत्तियां राज्य विश्वविद्यालय, सहारनपुर में आमेलित किया जाना प्रस्तावित है। राजकीय महाविद्यालय, पुँवारका में कार्यरत शैक्षिक एवं शिक्षणेत्तर कार्मिकों को अन्य राजकीय महाविद्यालय में समायोजित करते हुए रिक्त पदों को समाप्त कर दिया जाएगा। वर्तमान में महाविद्यालय में अध्ययनरत छात्र पूर्ववत् इसी महाविद्यालय में अपना कोर्स (बीए / बीकॉम) पूर्ण करेंगे और चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय, मेरठ की ही उपाधि प्राप्त करेंगे एवं आगामी शैक्षिक सत्र 2021-22 से राजकीय महाविद्यालय पुँवारका में छात्रों को प्रथम वर्ष में प्रवेशित नहीं किया जाएगा।  ज्ञातव्य है कि मुख्यमंत्री जी द्वारा सहारनपुर मण्डल एवं प्रदेश के अन्य जनपदों से आने वाले छात्र - छात्राओं को बेहतर उच्च शिक्षा प्रदान करने हेतु जनपद सहारनपुर में राज्य विश्वविद्यालय की स्थापना की घोषणा की गयी थी। राज्य विश्वविद्यालय सहारनपुर की स्थापना के सम्बन्ध में अधिसूचना दिनांक 07 मार्च, 2019 को निर्गत की गयी। मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में आहूत बैठक 26 मई, 2020 में जनपद सहारनपुर की तहसील सदर के ग्राम पुँवारका में राज्य विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए भूमि उपयुक्त पायी गयी तथा राजकीय महाविद्यालय पुँवारका को राज्य विश्वविद्यालय, सहारनपुर में आमेलित किए जाने का निर्णय लिया गया। विश्वविद्यालय की स्थापना हेतु कुल चिन्हित 50.43 एकड़ भूमि में से कृषकों की 43.47 एकड़ भूमि क्रय की जा चुकी है तथा 6.96 एकड़ भूमि सरकारी है, जिसमें 5.91 एकड़ भूमि राजकीय महाविद्यालय, पुँवारका तथा 1.05 एकड़ भूमि नाली / गूल की है।


Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद