आगामी 08 दिसम्बर को प्रस्तावित बन्द के सम्बन्ध में किसान संगठनों के प्रतिनिधियों से वार्ता की जाए : योगी आदित्यनाथ 

किसान संगठनों के प्रतिनिधियों से प्रदेश के सभी जनपदों में संवाद किया जाए : मुख्यमंत्री


गोआश्रय स्थल आय के केन्द्र बन सकते हैं.....


मुख्यमंत्री जी ने कहा कि जिन गोआश्रय स्थलों में 01 हजार गोवंश हैं, वहां सीएनजी बनाने की दिशा में कार्य किया जाए। 


दैनिक कानपुर उजाला 
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि आत्मनिर्भर पैकेज का लाभ प्रत्येक लाभार्थी को समय से प्राप्त हो। निवेशकों को सभी बुनियादी सुविधाएं समय पर उपलब्ध कराई जाएं। उन्होंने कहा कि उद्योगों को अच्छा माहौल देकर ही हम उत्तर प्रदेश के सर्वांगीण विकास के सहभागी बन सकते हैं। मुख्यमंत्री योगी शनिवार को अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्च स्तरीय बैठक में विभिन्न विभागों के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि उद्योगों के दृष्टिगत कुशल जनशक्ति तैयार की जाए। उन्होंने जीएसटी संग्रह के सम्बन्ध में बैठक करने के निर्देश देते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश एक बड़ा राज्य है, अतः यहां पर 01 लाख करोड़ रुपए से अधिक का जीएसटी संग्रह हो सकता है। इस पर रणनीति बनाकर कार्य किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि धान क्रय केन्दों में किसानों को किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं आनी चाहिए। उनका भुगतान 72 घण्टे के अन्दर सुनिश्चित किया जाए। देर होने पर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाए। गन्ना किसानों से गन्ने की खरीद समय से सुनिश्चित की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसान संगठनों के प्रतिनिधियों से प्रदेश के सभी जनपदों में संवाद किया जाए। उनसे आगामी 08 दिसम्बर, 2020 को प्रस्तावित बन्द के सम्बन्ध में भी वार्ता की जाए। राज्य सरकार किसानों के हितों को लेकर कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के किसानों को एमएसपी दिया जा रहा है। साथ ही, उन्हें बीज, खाद व सिंचाई की उपलब्धता भी सुनिश्चित की जा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए गोबर से सीएनजी बनाने की दिशा में कार्य किया जाए। जिन गोआश्रय स्थलों में 01 हजार गोवंश हैं, वहां सीएनजी बनाने के लिए इण्डियन ऑयल काॅरपोरेशन से बात की जाए। सीएनजी के उत्पादन से ये गोआश्रय स्थल आय के केन्द्र बन सकते हैं। इसे ध्यान में रखकर योजना बनाई जाए। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि 06, 07 व 08 दिसम्बर, 2020 को विभिन्न प्रकार के संगठनों द्वारा प्रदेश में आन्दोलन / बन्द प्रस्तावित हैं। अतः इनके दृष्टिगत सभी मण्डलायुक्त, जिलाधिकारी तथा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, पुलिस अधीक्षक पूरी सतर्कता बरतें। इन तीनों दिनों में विशेष सतर्कता बरती जाए और निरन्तर पेट्रोलिंग की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि सर्दी के मौसम के दृष्टिगत जन प्रतिनिधियों के माध्यम से जरूरतमंदों को कम्बल वितरण कराया जाए। उन्होंने कहा कि शीतलहर को देखते हुए रैन बसेरों में सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं और सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम भी किये जाएं। बैठक में मुख्य सचिव, औद्योगिक एवं अवस्थापना आयुक्त, कृषि उत्पादन आयुक्त, अपर मुख्य सचिव गृह, पुलिस महानिदेशक, अपर मुख्य सचिव एमएसएमई तथा सूचना, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री, अपर मुख्य सचिव कृषि, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना, प्रमुख सचिव पशुपालन, सचिव मुख्यमंत्री, सूचना निदेशक सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


Popular posts
मुख्यमंत्री योगी ने मकर संक्रांति और खिचड़ी पर्व पर प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दी
Image
केरल की जीवन रेखा एनएच 66 को चौड़ा करने के परिणामस्वरूप अन्य बुनियादी ढांचे का भी विकास होगा
Image
ऋषिकुल योगपीठ एवं आईएनओ द्वारा ऑनलाइन योगासन स्पोर्ट्स प्रतियोगिता एवं प्रमाण पत्र वितरण कार्यक्रम आयोजित
Image
कोविड-19 की वर्तमान स्थिति के परिप्रेक्ष्य में आईसीयू बेड्स की संख्या आवश्यकतानुसार बढ़ाई जाए : मुख्यमंत्री
Image