आगरा में सेप्टिक टैंक की गैस से 3 सगे भाइयों समेत पांच लोगों की मौत, मचा हाहाकार

 

दैनिक कानपुर उजाला
आगरा।
 मंगलवार की शाम को सेप्टिक टैंक की गैस से तीन सगे भाईयों समेत पांच लोगों की मौत हो गई है। इस हादसे से गांव में कोहराम मच गया है। मिली जानकारी के अनुसार, एक भाई जहरीली गैस के गड्ढे में गिर पड़ा। जिसको बचाने के लिए बाकी सब गए तो उनकी भी मौत हो गई। रात को सभी शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। ये मामला आगरा के परतापुरा गांव का है। गांव के सुरेन्द्र शर्मा के घर के दरवाजे पर शौचालय का सेप्टिक टैंक बना हुआ है। वो पूरा भर गया था। उससे थोड़ी ही दूरी पर नए टैंक के लिए 8 फीट गहरा गड्ढा दो दिन पहले ही खोदा गया था। खेत पर काम होने की वजह से गड्ढे की चिनाई नहीं कराई गई थी। इस वजह से इस गड्ढे में पुराने टैंक से पानी रिसकर आने लगा। पानी को रोकने के लिए 13 साल का अविनाश गड्ढे में उतरा लेकिन जहरीली गैस के रिसाव से वो गड्ढे के अंदर ही गिर पड़ा। उसे बचाने के लिए उसके सगे भाई आदित्य और हरिमोहन भी गड्ढे में उतरे लेकिन वो भी बेहोश होकर गिर पड़े। इसके बाद उनके चचेरे भाई सोनू शर्मा और पड़ोसी योगेश बघेल भी गड्ढे में उतर गए। जहरीली गैस से वो दोनों भी नहीं बच पाए और गिर पड़े।  पांच लड़कों के बेहोश होने से गांव में कोहराम मच गया। इसके बारे में परिजनों को पता चला तो खेत से दौड़े - दौड़े गांव पहुंचे। इसके बाद एक लड़का रस्सी बांधकर नीचे उतरा और सभी को बाहर निकाला। सभी को अस्पताल ले जाया गया, जहां डाॅक्टर ने मृत घोषित कर दिया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने दुर्घटना में 05 लोगों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने मृतकों के परिजनों को 02-02 लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान किए जाने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री जी ने दिवंगत आत्मा की शान्ति की कामना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।