प्रतिदिन 5500 नए युवा हो रहे हैं तंबाकू सेवन का शिकार

> राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत पुलिस अस्पताल सभागार में एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित।

दैनिक कानपुर उजाला
उन्नाव। राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत पुलिस अस्पताल के सभागार में एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। प्रशिक्षण में उपस्थित पुलिस विभाग के अधिकारियों, सुरक्षाकर्मियों को सिगरेट एंड अन्य टोबैको प्रोडक्ट्स अधिनियम 2003 के बारे में विस्तार से जानकारी दी। प्रशिक्षण के दौरान लखनऊ से नेशनल टोबैको कंट्रोल प्रोग्राम स्टेट कंसलटेंट सतीश त्रिपाठी, ट्रेनर जे पी शर्मा, डिस्ट्रिक्ट कंसलटेंट मयंक चौधरी तथा अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी अर्जुन सिंह सारंग उपस्थित थे। सोशल वर्कर प्रज्ञा सैनी द्वारा तंबाकू सेवन से होने वाले दुष्प्रभाव के बारे में जानकारी दी गई। प्रशिक्षण के दौरान सिगरेट एंड अन्य टोबैको प्रोडक्ट्स अधिनियम 2003 के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि अधिनियम की धारा 4 के अंतर्गत सभी सार्वजनिक स्थलों पर धूम्रपान निषेध घोषित किया गया है। धारा 5 के अंतर्गत टोबैको प्रोडक्ट्स के विज्ञापन को प्रतिबंधित किया गया है। धारा 6 ए के अंतर्गत 18 वर्ष से कम आयु के बालकों / बालिकाओं को किसी भी प्रकार का तंबाकू उत्पाद बेचना या बिकवाना प्रतिबंधित है। धारा 6 ब के अंतर्गत स्कूल के 100 गज के दायरे में किसी भी प्रकार के तंबाकू उत्पाद को बेचना प्रतिबंधित किया गया है। स्कूल के प्रधानाचार्य की यह जिम्मेदारी है कि वह शिक्षण संस्थान के मुख्य द्वार पर इस आशय के संदेश का बोर्ड लगवाए। धारा 7 के अंतर्गत तंबाकू प्रोडक्ट पर 80 प्रतिशत भाग पर वैधानिक चेतावनी चित्रित कराना अनिवार्य किया गया है। कोटपा अधिनियम का उल्लघंन करने व सार्वजनिक स्थल पर धूम्रपान करने पर 200 रुपए का जुर्माना किया जा सकता है। तंबाकू सेवन से होने वाले दुष्प्रभाव के बारे में बताया कि भारत देश में प्रतिदिन 3032 लोगों की मृत्यु तंबाकू के सेवन से होती है। तंबाकू सेवन से होने वाले रोगों में 50% पुरुषों  तथा 25% महिलाए कैंसर रोग से ग्रसित हो रही हैं। तंबाकू सेवन का सबसे ज्यादा दुष्प्रभाव युवा वर्ग पर हो रहा है। प्रतिदिन 5500 नए युवा तंबाकू सेवन के आदि हो रहे हैं। तम्बाकू सेवन से सबसे ज्यादा मुंह के कैंसर के रोगी उत्तर प्रदेश, बिहार व राजस्थान में पाए जा रहे हैं। प्रशिक्षण में इस बात पर विशेष जोर दिया गया कि राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम को प्रभावी ढंग से लागू करने तथा लोगों को तम्बाकू का सेवन ना करने विशेष रूप से युवा वर्ग को प्रेरित करने के लिए अपील किया गया। प्रशिक्षण में पुलिस अधिकारी, पुलिस सुरक्षा कर्मी, महिला पुलिस कर्मी, पुलिस लाइन के आर आई संदीप मिश्रा आदि सहित 38 प्रतिभागी उपस्थित रहे।

Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद