मुख्‍यमंत्री ने सोनभद्र को दिया एक नए मेडिकल कॉलेज का तोहफा

> साल के अंत तक विंध्‍य क्षेत्र के सभी गांवों में पेयजल मिलना शुरू हो जाएगा : मुख्यमंत्री

> सोनभद्र शूटिंग रेंज के लिए कोच की व्यवस्था भी जल्‍द करेगी सरकार : मुख्यमंत्री


ऐसे बच्‍चों को ढूंढ कर निकालिए जो आगे की पढ़ाई करना चाहते हैं लेकिन किन्‍हीं कारणों से उनका दाखिला नहीं हो पाता है ....
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि सरकार उनकी पढ़ाई के साथ रहने व खाने की वयवस्‍था भी करेगी।


दैनिक कानपुर उजाला
लखनऊ।
 जनपद सोनभद्र में आधी आबादी वनवासी और गिरवासी निवास करती है। उत्तर प्रदेश सरकार यहां पर पानी की किल्‍लत को दूर करने के साथ - साथ विकास कार्य भी तेजी से कर रही है। इसी क्रम में वनवासी कल्याण आश्रम में राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नवनिर्मित छात्रावास व विद्यालय का लोकार्पण किया है। यह बात मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ जी ने लोकापर्ण कार्यक्रम के दौरान कही। उन्‍होंने कहा कि राष्‍ट्रपति स्‍वयं विंध्‍य क्षेत्र के विकास के लिए पहले से ही काफी सक्रिय रहे हैं। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने सोनभद्र के लोगों को बेहतर च‍िकित्‍सा सुविधा उपलब्‍ध कराने के लिए सरकार की ओर से यहां एक मेडिकल कॉलेज बनाए जाने की घोषणा भी की। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि यह बहुत ही सौभाग्‍य की बात है कि महामहिम राष्‍ट्रपति की जन्‍मभूमि भी उत्‍तर प्रदेश है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वनवासी कल्याण आश्रम में नवनिर्मित छात्रावास और विद्यालय के उद्घाटन के अवसर पर उनका आगमन वनवासी समाज के जीवन मे एक व्यापक परिवर्तन लाएगा। इस मौके पर भारत की प्रथम महिला सरिता कोविंद व राज्‍यपाल आनंदीबेन पटेल भी मौजूद थीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी जी के कार्यकाल में देश ने वैश्विक मंच पर अलग पहचान बनाई है। अभी हाल में ही कोविड प्रबंधन पर अमेरि‍का व ब्राजील के राष्‍ट्रपति व आस्‍ट्रेलिया के प्रधानमंत्री के साथ प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने संवाद किया था। इसमें अमेरिका के राष्‍ट्रपति ने भारत में कोविड प्रबंधन पर प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी जी का अभिनंदन किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत ने दुनिया के सामने बेहतरीन कोविड मैनेजमेंट का उदाहरण प्रस्‍तुत करने के साथ-साथ दुनिया को कोविड की दो वैक्‍सीनें देकर विश्‍व मानवता का मार्ग प्रशस्‍त किया है। इसपर पूरी दुनिया से जो सम्‍मान प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी जी को मिल रहा है, वह सम्‍मान भारत की 135 करोड़ की आबादी का सम्‍मान है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ये केवल वैश्विक मंच पर ही नहीं बल्कि केन्‍द्र व राज्‍य सरकार देश के अंदर गांव, गरीब, किसान, नौजवान, महिलाओं, वनवासियों, गिरवासियों समेत अनुसूचित जाति व अति पिछड़े लोगों को समाज की  मुख्यधारा से जोड़कर बिना किसी भेदभाव के शासन की योजनाओं का लाभ पहुंचाने का काम किया जा रहा है। इसी क्रम में सोनभद्र जनपद साक्षात रूप से लाभान्वित होते हुए दिखाई दे रहा है। राज्य सरकार एक मेडिकल कॉलेज का तोहफा भी सोनभद्र को देने जा रही है। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि विंध्‍य क्षेत्र के दो जनपद मिर्जापुर व सोनभद्र हर साल जनवरी से जुलाई महीने तक पानी की समस्‍या से जूझते थे। प्रधानमंत्री जी के जल जीवन मिशन से यहां पानी की किल्‍लत दूर हुई है। 'हर घर नल, घर घर जल' भाव के साथ यहां के लोगों को शुद्ध पीने का पानी उपलब्‍ध कराया जा रहा है। साल के अंत तक विंध्‍य क्षेत्र के सभी गांवों में पेयजल मिलना शुरू हो जाएगा। शुद्ध पेयजल मिलने से यहां बीमारियों पर लगाम लगेगी। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि महामहिम राष्‍ट्रपति के साथ पूजन कार्यक्रम में आए थे। वहां कुछ वनवासी बच्‍चे भी मौजूद थे। उसमें मैंने एक बालिका से पूछा कौन सी क्लास में पढ़ती हो? उसने बोला इंटर पास कर लिया है लेकिन आगे की पढ़ाई छोड़ दी है क्‍योंकि पढ़ाई के लिए प्रवेश नहीं मिल पाया। इसपर मुख्‍यमंत्री ने प्रशासन को निर्देश दिए कि सेवा समपर्ण संस्‍थान के साथ बातचीत करके उस बालिका का प्रवेश अगर संभव हो तो इसी जनपद में करायें, नहीं तो काशी या फिर लखनऊ में करायें। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि ऐसे बच्‍चों को ढूंढ कर निकालिए जो आगे की पढ़ाई करना चाहते हैं लेकिन किन्‍हीं कारणों से उनका दाखिला नहीं हो पाता है। सरकार उनकी पढ़ाई के साथ रहने व खाने की व्यवस्था भी करेगी क्‍योंकि पढ़ा लिखा बालक व बालिका समाज का आधार बनता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अभिनव कार्यक्रम 21 साल पहले शुरू हुआ था। तब से राष्‍ट्रपति इससे जुड़े हुए हैं। जब वह सांसद थे तो उन्‍होंने यहां भवन के निर्माण में पहला योगदान दिया था। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि यहां की शूटिंग रेंज के लिए कोच की व्यवस्था भी राज्य सरकार जल्‍द करेगी।