बीसीसीआई सितंबर-अक्टूबर में यूएई में पूरा कराएगा आईपीएल 2021 सत्र

दैनिक कानपुर उजाला

 नयी दिल्ली आईपीएल 2021 सीजन के बाकी बचे 31 मैच सितंबर-अक्टूबर में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में होंगे। भारतीय क्रिकेट कंट्राेल बाेर्ड (बीसीसीआई) ने शनिवार को वर्चुअल रूप से आयोजित अपनी विशेष आम बैठक (एसजीएम) में यह फैसला लिया है। वहीं बीसीसीआई ने आगामी टी-20 विश्व कप की मेजबानी के लिए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) से और समय मांगा है जो मूल रूप से अक्टूबर के मध्य और 14 नवंबर के बीच भारत में आयोजित होना है। समझा जाता है कि बीसीसीआई ने आईपीएल को दोबारा शुरू करने के लिए अस्थायी रूप से 20 सितंबर की तारीख निर्धारित की है। बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने शनिवार को जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा, “ भारत में मानसून के सीजन के मद्देनजर शेष आईपीएल 2021 सत्र को इस साल सितंबर-अक्टूबर में यूएई में आयाेजित करने का फैसला लिया गया है, क्योंकि आमतौर पर मानसून जून और अक्टूबर की शुरुआत के बीच होता है। ” शेष आईपीएल के लिए सीमित विंडो में बीसीसीआई के सामने कई बाधाएं हैं, जिसमें सबसे पहली दुविधा इंग्लैंड में भारत की पांच मैचों की टेस्ट सीरीज है जो चार अगस्त को शुरू होगी और 14 सितंबर को समाप्त। ऐसे में बीसीसीआई के लिए सितंबर की शुरुआत में आईपीएल को शुरू करना मुमकिन नहीं है। वहीं इंग्लैंड के खिलाड़ी आईपीएल में उपलब्ध नहीं होंगे, क्योंकि भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज के करीब एक हफ्ते बाद इंग्लैंड को बंगलादेश के दौरे पर जाना है और उसके बाद पाकिस्तान के खिलाफ उसके घर पर सफेद गेंद श्रृंखला खेलनी है, जो अक्टूबर के मध्य तक चलने की उम्मीद है। इस कारण इंग्लैंड के खिलाड़ियों की अनुपलब्धता कई फ्रेंचाइजियों को चिंता का विषय है। इसके अलावा दूसरी प्रमुख चुनौती कैरिबियाई प्रीमियर लीग (सीपीएल) है, जिसने शुक्रवार को खिलाड़ियों के मसौदे की घोषणा करते हुए दोहराया कि 2021 संस्करण 28 अगस्त से 19 सितंबर के बीच आयोजित किया जाएगा। कई शीर्ष कैरिबियाई खिलाड़ी और कई अन्य विदेशी खिलाड़ी और कोचिंग स्टाफ सीपीएल में शामिल हैं। इसके मद्देनजर बीसीसीआई ने सीपीएल के साथ बातचीत शुरू की है और उन्हें अपने शैड्यूल में बदलाव करने का आग्रह किया है, ताकि खिलाड़ियों को सीपीएल के आयोजन स्थल सेंट किट्स से यूएई में बायो-बबल में जल्द स्थानांतरित किया जा सके, हालांकि बीसीसीआई के लिए यह आसान काम नहीं होगा। बीसीसीआई ने कहा कि एसजीएम ने पदाधिकारियों को आईसीसी से टी-20 विश्व कप की मेजबानी को लेकर उचित फैसला लेने के लिए और समय की मांग करने के लिए कहा है। उल्लेखनीय है कि यह मुद्दा एक जून को होने वाली आईसीसी बोर्ड की बैठक के एजेंडे के प्रमुख मुद्दों में से एक है, जिसमें बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरभ गांगुली के हिस्सा लेने की उम्मीद है। समझा जाता है कि एसजीएम में घरेलू खिलाड़ियों को भुगतान का मामला चर्चा में नहीं लाया गया। इन खिलाड़ियों को कई टूर्नामेंट आयोजित नहीं किए जाने के बाद भुगतान किया जाना था। एक क्रिकेट संघ ने चर्चा के लिए इस मुद्दे को उठाया भी, लेकिन अध्यक्ष सौरभ गांगुली और उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला ने यह कहते हुए इस पर चर्चा से इंकार कर दिया कि यह एजेंडा का हिस्सा नहीं है। वहीं आईसीसी ने भी यह स्पष्ट कर दिया है कि टी-20 विश्व कप, जो 16-20 अक्टूबर से 14 नवंबर के बीच होने की संभावना है, की विंडो को बदला नहीं जा सकता है। आईसीसी ने यह भी कहा है कि बीसीसीआई इस बात पर विचार करे कि क्या टी-20 विश्व कप में 16 टीम हिस्सा लें या नहीं। साथ ही बीसीसीआई यह भी बताए कि क्या टी-20 विश्व भारत में आयोजित किया जा सकता है या इसे यूएई में स्थानांतरित किया जाना चाहिए, जिसे बैक-अप स्थल के रूप में नामित किया गया है।

Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद