कोविड वैक्सीन को सुरक्षित करने में ई-विन की अहम भूमिका

दैनिक कानपुर उजाला 

औरैया। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय एवं यूएनडीपी (यूनाइटेड नेशन डेवलपमेंट प्रोग्राम) के सहयोग से वर्ष 2014 से पूरे देश में ई-विन (इलैक्ट्रानिक वैक्सीन इंटेलीजेंस नेटवर्क) प्रोग्राम सफलता पूर्वक संचालित किया जा रहा है। जिले में सीएचसी/पीएचसी स्तर पर स्थापित वैक्सीन भण्डारण एवं कोल्ड चेन उपकरणों पर इलैक्ट्रोनिक डिवाइस टेम्परेचर लांगर के माध्यम से ई-विन पोर्टल पर निरंतर निगरानी की जाती है। ई-विन के माध्यम से वैक्सीन स्टाक की मौजूदा स्थिति, निर्माता, निर्माण व एक्सपायरी डेट के साथ रीयल टाइम तापमान को भी देखा जा सकता है। वैक्सीन के लिए उपयुक्त तापमान के अभाव में कोल्ड चेन हैंडलर के मोबाइल पर एक निर्धारित समय अंतराल पर अलर्ट मैसेज भेजता है और वैक्सीन को सुरक्षित करने के लिए बताया जाता है। वैक्सीन का स्टाक निर्धारित स्टाक से कम या ज्यादा होने, वैक्सीन की अवसान तिथि (एक्सपायरी डेट) नजदीक होने पर भी यह संदेश भेजा करता है, जिससे समय रहते वैक्सीन स्टाक को अनुरक्षित किया जा सके। यूएनडीपी के जिला कोल्ड चेन प्रबंधक सतेन्द्र सिंह बताते हैं कि वर्तमान में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए कोविड टीकाकरण का डाटाबेस डिजिटल प्लेटफार्म कोविन पोर्टल का संचालन पूरे देश में यूएनडीपी के विशेष तकनीकी सहयोग से ही किया जा रहा है। जिले में भी मुख्य चिकित्साधिकारी डॉक्टर अर्चना श्रीवास्तव के दिशा निर्देशन में तकनीकी टीम के सहयोग से रोजाना लगभग 40 से 45 कोविड टीकाकरण केंद्रों पर सत्रों को कार्ययोजना के अनुसार टीकाकरण कर्मियों का नाम व विवरण की पोर्टल पर इंट्री की जाती है। उन्हें कोविन पोर्टल ऐप के माध्यम से संचालित करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है। लाभार्थियों के लिए ऑन स्पाट और आनलाइन पंजीकरण की व्यवस्था करना, मोबाइल एसएमएस के माध्यम से पहली और दूसरी डोज के लिए सूचित करना, वैक्सीन का प्रकार, बैच नंबर की सूचना पोर्टल पर दर्ज करना और वैक्सीन अनुपयोगी होने से बचाने का काम किया जा रहा है। पोर्टल में तकनीकी समस्याओं के निराकरण के लिए सत्र स्थल पर पहुंचकर टीम को आनस्पाट प्रशिक्षित किया जाता है। सत्येन्द्र सिंह ने बताया कि विगत वर्ष कोरोना संक्रमण के पहले चरण में लाकडाउन के समय ईविन के माध्यम से लगभग 20 लाख की वैक्सीन को समय रहते तापमान को नियमित कर बचाया गया। कुछ दिन पूर्व ईविन आनलाइन मानीटरिंग के माध्यम से समय से पूर्व कोल्ड चेन हैंडलर के सहयोग से लगभग तीन लाख की कोविशील्ड सहित अन्य वैक्सीन को अनुपयोगी होने से बचाया गया। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए हर व्यक्ति को समय से टीकाकरण कराना अनिवार्य है। ऐसे लाभार्थी जिन्होंने पहली डोज ले ली है। वह समय से अपनी दूसरी डोज भी अवश्य लें और अपने आपको परिवार सहित संक्रमण से सुरक्षित करें।

Popular posts from this blog

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद

उ प्र शासन ने गृह (गोपन) अनुभाग-3 के 31 मई को जारी निर्देशों को यथा संशोधित करते हुए अनलॉक 2 की गाइडलाइन्स जारी की