कुपोषित / अतिकुपोषित बच्चों के माता - पिता को कोविड वैक्सीन लगाये जाने हेतु सूची तैयार

 जिलाधिकारी ने सूची स्वास्थ्य विभाग से समन्वय कर तैयार करने के निर्देश दिये


> सहायता समूहों द्वारा पूरी पारदर्शिता से कराया जा रहा है ड्राई राशन का वितरण : उपायुक्त, एन.आर.एल.एम. 

विकास भवन में जनपदीय अधिकारियों के साथ बैठक करते जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार।
दैनिक कानपुर उजाला
उन्नाव। जिला पोषण समिति / डिस्ट्रिक्ट कन्वर्जेन्स प्लान कमेटी / जिला निगरानी समिति की बैठक सोमवार 31 मई को जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में आयोजित हुयी। जिला कार्यक्रम अधिकारी दुर्गेश कुमार सिंह द्वारा ड्राई राशन वितरण के सम्बन्ध में अवगत कराया गया कि माह जनवरी 2021 का राशन लाभार्थियों को नेफेड के द्वारा आपूर्तित चना, दाल, एवं तेल तथा कोटेदारों के माध्यम से स्वयं सहायता समूहों द्वारा गेहूँ एवं चावल का वितरण आंगनबाड़ी केन्द्रों पर किया जा रहा है। जिलाधिकारी द्वारा इन सामग्रियों के वितरण के सम्बन्ध में पूछे जाने पर उपायुक्त एन.आर.एल.एम. द्वारा बताया गया की स्वयं सहायता समूहों द्वारा पूरी पारदर्शिता से ड्राई राशन का वितरण कराया जा रहा है तथा बीघापुर एवं सि. करन ब्लाक में पाोषाहार उत्पादक इकाई पर निर्मित खाद्यान्न का वितरण किया जाना है। जिला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा यह भी अवगत कराया गया कि कुपोषित / अतिकुपोषित बच्चों के माता - पिता को कोविड वैक्सीन लगाये जाने हेतु सूची तैयार कर ली गयी है। जिलाधिकारी ने इस सम्बन्ध में स्वास्थ्य विभाग से समन्वय कर टीकाकरण की कार्ययोेजना तैयार करने के निर्देश दिये गये। एन.आर.सी. सेन्टर पर बच्चों की भर्ती सन्तोषजनक नहीं पाये जाने के सम्बन्ध में पूछे जाने पर चिकित्सा अधीक्षक द्वारा अवगत कराया गया कि माह अप्रैल एवं मई में कोविड-19 महामारी के कारण बच्चों की भर्ती नहीं हुयी, जिसपर जिलाधिकारी द्वारा तत्काल पूर्व की भांति बच्चों की भर्ती एन.आर.सी. सेन्टर पर कराये जाने के निर्देश मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दिये गये। जिलाधिकारी द्वारा अति कुपोषित श्रेणी के बच्चों से सम्बन्धित परिवारों की सूची जिला पंचायतराज अधिकारी को उपलब्ध कराने के निर्देश दिये गये ताकि उन्हें शौचालय सुविधा से पूर्ण किया जा सके। जिलाधिकारी द्वारा समस्त जनपद स्तरीय अधिकारियों को उनके विभागवार तय लक्ष्यों के सापेक्ष वांछित प्रगति लाये जाने के निर्देश दिये गये जिसकी साप्ताहिक समीक्षा की जायेगी। बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. आशुतोष कुमार, जिला समन्वयक एन.आर.एल.एम., जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला पूर्ति अधिकारी, आदि जिला स्तरीय अधिकारी, यूनीसेफ प्रतिनिधि एवं विकास खण्ड स्तर के बाल विकास परियोजना अधिकारी एवं प्रभारी उपस्थित रहे।

Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद