लक्षणयुक्त व्यक्तियों की कराएं आर.टी. पी.सी.आर. जांच : नोडल अधिकारी

 > नोडल अधिकारी ने विकास खण्ड सरसौल की ग्राम पंचायत सुन्हैला तथा  ग्राम पंचायत हाथीपुर का किया निरीक्षण।

> सुन्हैला में कुल 292 परिवारों का सर्वे कर लिया गया है जिनमें से 14 लोग लक्षणयुक्त पाये गये।
> हाथीपुर में कुल 1281 परिवारों का सर्वे कर लिया गया है जिनमें से 62 लोग लक्षणयुक्त पाये गये।

दैनिक कानपुर उजाला
कानपुर।
 शासन द्वारा प्रदत्त निर्देश के क्रम में शुक्रवार को आयुक्त कानपुर मण्डल, द्वारा नोडल अधिकारी के रूप में जनपद कानपुर नगर का दौरा कर कोविड-19 के बेहतर प्रबन्धन के सम्बन्ध में समीक्षा की गयी। सर्वप्रथम नोडल अधिकारी ने विकास खण्ड सरसौल की ग्राम पंचायत सुन्हैला पहुँचकर पंचायत भवन परिसर में निगरानी समिति के सदस्यों से संवाद कर कोविड के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी प्राप्त की। ग्राम पंचायत के सुन्हैला मजरे की आशाबहू से जानकारी करने पर बताया गया कि सुन्हैला में कुल 292 परिवारों का सर्वे कर लिया गया है जिनमें से 14 लोग लक्षणयुक्त पाये गये थे, जिनको मेडिसिन किट का वितरण कर दिया गया है। इसके अतिरिक्त मण्डलायुक्त द्वारा ग्राम पंचायत हाथीपुर के पंचायत भवन का भी भ्रमण किया गया, जहां निगरानी समिति के सदस्यों से बैठकर कोविड के सम्बन्ध जानकारी करने पर बताया गया कि हाथीपुर में कुल 1281 परिवारों का सर्वे कर लिया गया है जिनमें से 62 लोग लक्षणयुक्त पाये गये थे, जिनको मेडिसिन किट का वितरण कर दिया गया है। उक्त लक्षणयुक्त व्यक्तियों का एंटीजन टेस्ट किया गया है।  खण्ड विकास अधिकारी को उपरोक्त दोनों ग्राम पंचायतों में पाये गये लक्षणयुक्त व्यक्तियों की आर.टी. पी.सी.आर. जांच कराने तथा इंटीग्रेटेड कमांड एंड कण्ट्रोल सेण्टर को उनका डाटा उपलब्ध कराने हेतु नोडल अधिकारी डॉ. राजशेखर ने निर्देशित किया, ताकि आई.सी.सी.सी. से उनकी प्रतिदिन माॅनिटरिंग की जा सके। इसके अतिरिक्त खण्ड विकास अधिकारी को यह भी निर्देश दिये कि वे दोनों ग्राम पंचायतों को एक माइक्रो प्लान के तहत सेक्टर वाइज बांट दें, जिसमें निगरानी समिति के प्रत्येक सदस्य को लगभग 50 - 50 घर आवंटित हों, ताकि वे प्रतिदिन नियमित रूप से अपने आवंटित  घरों में जाकर सर्वे कर लक्षणयुक्त व्यक्तियों की जांच कर सकें, उन्हें मेडिकल किट उपलब्ध करा सकें। इसके साथ ही निगरानी समिति को सभी लक्षणयुक्त मरीजों को मेडिसिन किट के वितरण कराये जाने, नियमित रूप से उनका ऑक्सीजन लेवल, पल्स, तापमान मापने तथा उनका अंकन एक पंजिका, जिसमें सैम्पल दिनांक, सैम्पल परिणाम तथा वर्तमान में लक्षण की स्थिति का भी उल्लेख हो, में किये जाने हेतु भी निर्देशित किया। टीकाकरण की स्थिति विषयक जानकारी करने पर उपरोक्त ग्राम पंचायतों की निगरानी समितियों से टीकाकरण के बारे में पूछने पर ग्राम पंचायत सुन्हैला की निगरानी समिति द्वारा कुल 16 व्यक्तियों जिनमें 13 व्यक्ति 45 वर्ष से अधिक आयु के तथा 3 व्यक्ति 18 वर्ष से अधिक आयु को तथा ग्राम पंचायत हाथीपुर की निगरानी समिति द्वारा ग्राम पंचायत में कुल 238 व्यक्तियों जिनकी उम्र 45 वर्ष से अधिक हैं, को टीककरण किये जाने के जाने के बारे में बताया गया। निर्देशित किया गया कि टीकाकरण की संख्या को और अधिक बढ़ाया जाए। नोडल अधिकारी द्वारा जनपद के आई.सी.सी.सी. व राज्य स्तर के कन्ट्रोल रूम नम्बर की जानकारी ग्रामवासियों को दिये जाने हेतु जनपद के प्रत्येक ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन अथवा परिषदीय विद्यालयों में वाॅल पेन्टिंग के माध्यम से दूरभाष नम्बर अंकित कराये जाने हेतु खण्ड विकास अधिकारी को निर्देशित किया गया। नोडल अधिकारी द्वारा ग्राम पंचायत के मजरे हाथीपुर का दौरा किया गया, जहां कोरोना पाॅजटिव पाये गये प्रद्युम्न, शान्ती, विद्या, तेज बली और संतोष के घरों का भ्रमण कर उनसे वार्ता कर स्वास्थ्य विषयक जानकारी प्राप्त की गयी। इस दौरान प्रद्युम्न व शान्ती से वार्ता करने पर उनके द्वारा बताया गया कि अब उनकी रिपोर्ट निगेटिव आ गयी है और वे पूर्ण रूप से स्वस्थ्य हैं। ग्राम में साफ - सफाई की व्यवस्था ठीक नहीं पायी गयी, जिसके लिये खण्ड विकास अधिकारी, सरसौल को उक्त ग्राम पंचायतों की तत्काल सफाई हेतु निर्देशित किया गया।

Popular posts from this blog

कोतवाली में मादा बंदर ने जन्मा बच्चा

मुख्यमंत्री ने आकाशीय बिजली गिरने की घटना से हुई जनहानि पर गहरा शोक व्यक्त किया

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के प्रभावी कार्यान्वयन की है आवश्यकता