सहारनपुर में आंधी का कहर, बेहट इलाके से दंपति की मृत्यु

दैनिक कानपुर उजाला 

सहारनपुर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में आधी रात को आये आंधी -तूफान से फसलों को भारी नुकसान हुआ और बेहट इलाके में टीन सेड की दीवार गिरने से बुजुर्ग किसान दंपति की मृत्यु हो गई। सूत्रों के अनुसार सहारनपुर में कल मध्यरात्रि के समय अचानक आंधी-तूफान के साथ बारिश के कई पेड़ और बिजली के पोल उखड गये,जिससे बिजली अपूर्ति ठप्प प्रभावित रही। आंधी-तूफान से आम की फसल को भारी नुकसान हुआ है। बेहट तहसील के हरियाणा सीमा से सटे गांव सढौली भूड में रात्रि करीब साढे 12 बजे 60 वर्षीय अतर सिंह और 55 वर्षीय उसकी पत्नी रेशमा की टीन सेड की दीवार गिरने से मृत्यु हो गई जबकि उसी दौरान जीने से उतरने के समय 25 वर्षीय युवक राजन गंभीर रूप से घायल हो गया। जिसे नर्सिग होम में भर्ती कराया है। हादसे की सूचना मिलने पर रविवार सुबह मौके पर गए एसडीएम दीप्तिदेव यादव सीओ रामकरण और पुलिस निरीक्षक बेहट राजकुमार शर्मा मौके पर गए। एसडीएम दीप्ति देव ने बताया कि मृतक किसान के परिजनों को कृषक बीमा दुघर्टना के तहत पांच लाख रूपए की सहायता राशि दी जाएगी। उसकी पत्नी रेशमा के नाम भी यदि जमीन हुई तो उतनी ही राशि उसके नाम पर दी जाएगी। वरना राज्यीय आपदा मोचक फंड से चार लाख रूपए की राशि बतौर मुआवजा दी जाएगी। उन्होंने बताया कि गागलहेडी क्षेत्र में सहारनपुर-देहरादून हाइवे पर पेड़ टूटकर गिरने से रविवार सुबह तक यातायात बंद रहा और वाहनों की लंबी कतारे लग गई। उन्होंने बताया कि उखड़े पेडों को हटकर हाईवे साफ किया जा रहा है। जिले के देवबंद, नानौता, रामपुर, चिलकाना, नकुड, गंगोह बेहट और छुटमलपुर आदि कस्बों में तार टूटने से बिजली आपूर्ति रविवार दोपहर तक ठप्प रही।

Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद