क्या यूपी में अनलॉक की तैयारी: योगी सरकार कोरोना कर्फ्यू में छूट देगी या नहीं, आज हो सकता है फैसला


दैनिक कानपुर उजाला 

यूपी में 31 मई तक काेरोना कर्फ्यू लगा है। क्या इसे आगे बढ़ाया जाएगा या छूट मिलेगी, इस पर सीएम योगी आज फैसला ले सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक अब यूपी में कोरोना का संक्रमण तेजी से घट गया है ऐसे में कुछ शर्तों के साथ लोगों को छूट मिल सकती है। 

प्रदेश में संक्रमितों की संख्या घटकर 50 हजार के करीब पहुंची

प्रदेश में कोरोना का संक्रमण तेजी से कम हो रहा है। बमुश्किल 25 दिन पूर्व तक जहां यूपी में सक्रिय केसों की संख्या तीन लाख से काफी अधिक हुआ करती थी, वह घटकर अब 50 हजार के करीब पहुंच चुकी है। शुक्रवार को प्रदेश में सक्रिय केसों की संख्या 52,244 थी। इसी प्रकार से प्रदेश में नए केसों की संख्या में भी तेजी से गिरावट आ रही है। 28 मई को प्रदेश में नए केसों की संख्या 2402 दर्ज की गई थी जबकि 25 दिन पूर्व यह संख्या 30 हजार से कहीं अधिक रह रही थी। कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या भी अब कम होने लगी है। शुक्रवार को प्रदेश भर में 159 संक्रमितों की मौत हो गई जबकि पहली मई को यह संख्या 303 थी। इसी प्रकार से प्रदेश में रिकवरी रेट में भी तेजी से सुधार हो रहा है। शुक्रवार को प्रदेश में रिकवरी रेट 95.7 प्रतिशत दर्ज की गई जबकि पाजिटिविटी रेट नीचे गिरकर 0.7 पर पहुंच गया है। इस बीच अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में लगातार कोरोना जांचों की संख्या बढ़ाई जा रही है। बीते बुधवार को भी 3.58 लाख लोगों की जांच की गई थी। अब प्रतिदिन जांच के लिए जो सैंपल लिए जा रहे हैं उनमें 75 प्रतिशत ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों के हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में भी तेजी से जांच की जा रही है।      
योगी ने कोरोना से लड़ाई का जिम्मा ग्राम प्रधानों को सौंपा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नवनिर्वाचित हजारों ग्राम पंचायतों को बड़ा जिम्मा सौंपते हुए कहा कि वह गांवों में कोरोना जांच और टीकाकरण कराने में अहम भूमिका निभाएं। 'मेरा गांव कोरोना मुक्त गांव' का संदेश हर ग्रामवासी का लक्ष्य बने। यह समय मदद का है। संवेदनशीलता का है। हमारी और आपकी परीक्षा का है। यथासंभव सभी की मदद करें। मुख्यमंत्री व राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने शुक्रवार को ग्राम प्रधानों से वर्चुअली संबोधित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचायतों में एक स्वस्थ प्रतिस्पर्धा का भाव होना चाहिए। ग्राम प्रधान के रूप में आप सभी अपने-अपने गांवों की निगरानी समितियों के अध्यक्ष हैं। हमारी निगरानी समितियों ने अब तक बहुत ही अच्छा कार्य किया है। अब आप की देखरेख में यह कार्य तेजी से और आगे बढ़ेगा। सीएम ने ग्राम प्रधानों की हौसला अफजाई करते हुए कहा कि गांव में बाहर से कोई भी आए तो उसकी जांच करवाएं। सीएम ने उन्हें आगाह करते हुए कहा कि यह कोरोना बहरूपिया है और धूर्त भी है। खुद भी सजग रहें और अपने ग्राम वासियों को भी जागरूक करें। यह सुखद है कि हमारे सर्वेक्षण में 68 फीसदी गांवों में शून्य संक्रमण होना पाया गया, लेकिन यह स्थिति बनी रहे। इसके लिए सावधानी जरूरी है। ऐसे समय में जबकि कोरोना के खिलाफ हमारी लड़ाई निर्णायक चरण में पहुंच रही है, तब आपकी भूमिका  और अधिक महत्वपूर्ण हो जाती है।

Popular posts from this blog

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद

उ प्र शासन ने गृह (गोपन) अनुभाग-3 के 31 मई को जारी निर्देशों को यथा संशोधित करते हुए अनलॉक 2 की गाइडलाइन्स जारी की