हाईटेक हुआ नगर निगम, अब एस.एम.एस. से आयेगा हाउस टैक्स बिल

 दैनिक कानपुर उजाला

कानपुर। नगर निगम हाईटेक हो गया है। हाउस टैक्स बिल छपवाने की जगह अब चालू वित्तीय वर्ष में हाउस टैक्स का बिल मोबाइल में एस.एम.एस. से भेजा जा रहा है। एस.एम.एस. में ही ऑनलाइन बिल जमा करने का लिंक भी होता है। घर बैठकर अपने मकान का हाउस टैक्स जमा किया जा सकता है। इसके लिए अब नगर निगम में टैक्स जमा करने के लिए लाइन नहीं लगानी पड़ेगी। हाउस टैक्स बिल बांटने वाले कर्मचारियों के सेवानिवृत्त होने और भर्ती न होने के कारण बिल बांटने में दिक्कत आ रही है। कई माह तक बिल बंटते रहे हैं। इसको लेकर लोगों में आक्रोश भी रहता है। इसको देखते हुए नगर निगम ने पिछले साल जोनवार टैक्स जमा करने वाले मकान मालिकों के मोबाइल नंबर एकत्र करने शुरू किए थे। वर्तमान समय में नगर निगम में 4.65 लाख लोग हाउस टैक्स जमा कर रहे हैं। इसमें अब तक 2,21,400 मोबाइल नंबर दर्ज हो गए हैं। चालू वित्तीय वर्ष 2021- 22 में इन मोबाइल नंबर पर नगर निगम ने हाउस टैक्स के बिल भेजना शुरू कर दिए हैं। साथ ही अन्य मकान मालिकों के मोबाइल नंबर एकत्र किए जा रहे हैं। जुलाई माह तक हाउस टैक्स जमा करने पर दस फीसद छूट भी है। इसके अलावा ऑनलाइन जमा करने पर 0.5 फीसद और छूट मिलेगी।  

एस.एम.एस. में मकान का पूरा लेखा जोखा
स्मार्ट सिटी मिशन आई.टी सेल के मैनेजर राहुल सब्बरवाल ने बताया कि एस.एम.एस. खोलने पर मकान का पूरा लेखा जोखा आ जाएगा। कितना टैक्स है। वार्षिक किराया मूल्यांकन कितना है और ब्याज की क्या स्थिति है। साथ ही एक लिंक भी दिया है। इसको खोलने पर पता चल जाएगा कि कैसे ऑनलाइन बिल जमा कर सकते हैं। मोबाइल पर एस.एम.एस. भेजने का काम शुरू कर दिया गया है। इससे कागज और घर - घर बिल पहुंचने के लिए कर्मचारियों की जरूरत नहीं पड़ेगी। साथ ही ऑनलाइन सिस्टम भी है। इसके माध्यम से जनता घर में बैठकर टैक्स जमा कर सकती है। साथ ही कुछ छूट भी मिलेगी।

Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद