हर नागरिक का जीवन और जीविका बचाना हमारा कर्तव्य : योगी आदित्यनाथ

 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 26 मई, 2021 को प्राथमिक स्वास्थ केंद्र मझगाँवा का निरीक्षण करने के उपरान्त। 

दैनिक कानपुर उजाला
देवरिया।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोविड से संबंधित समीक्षा और तीसरी लहर से बचाव की तैयारियों का जायजा लेने बुधवार को देवरिया पहुंचे। यहां उन्होंने इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेण्टर, एम.सी.एच. विंग का हाल जाना, निगरानी समिति के लोगों से बातचीत की। फिर अधिकारियों के साथ बैठक कर कोरोना के साथ - साथ इंसेफेलाइटिस से बचाव पर ध्यान देने और गेहूं खरीद में तेजी लाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री शहर से सटे मझगांवा स्थित पी.एच.सी. पर भी गए, जहां टीकाकरण की जानकारी ली और लोगों से वैक्सीन लगवाने और टेस्ट कराने पर जोर दिया। बुधवार लगभग 11 बजे देवरिया पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोविड-19  कंट्रोल रूम और एम.सी.एच. विंग का निरीक्षण करने के बाद शहर से सटे कतरारी गांव पहुंचे। जहां निगरानी समिति के सदस्यों के साथ बैठक कर उनका उत्साहवर्धन किया। बैठक में उन्होंने कहा कि करोना से लड़ाई में आप लोगों की भूमिका महत्वपूर्ण है। आप लोग घर - घर जाकर लोगों को कोविड टेस्ट और वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित करें। वहां से विकास भवन सभागार में जिले के अधिकारियों के साथ उन्होंने समीक्षा बैठक भी की। समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों से करोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए की गई तैयारियों के बारे में विस्तार से जानकारी ली और सुझाव भी मांगा। करोना से बचाव की तैयारियों को लेकर अधिकारियों द्वारा दिए गए जवाब से मुख्यमंत्री संतुष्ट दिखे। उन्होंने इंसेफेलाइटिस बीमारी के बारे में भी आगाह किया और कहा कि बरसात के सीजन में यह बीमारी काफी खतरनाक हो जाती है। ऐसे में इससे निपटने के उपायों पर भी जोर देना है। मीडिया से बात करते मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि पी.एम. मोदी के नेतृत्व में देश के प्रत्येक नागरिक का जीवन और उसकी जीविका बचाने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है। इसी टीम भावना का नतीजा है कि देश की सबसे बड़ी आबादी वाला राज्य होने के बाद भी उत्तर प्रदेश सुरक्षित है। आज पूरे प्रदेश के अंदर मात्र 3300 केस आए हैं जबकि 62000 एक्टिव केस बचे हैं। प्रदेश में 4 करोड़ 70 लाख से अधिक टेस्ट हो चुके हैं। योगी ने कहा कि आने वाले दिनों में हम पूरी तरह ऑक्सीजन के लिए आत्मनिर्भर हो जाएंगे। इसके लिए हर जगह ऑक्सीजन प्लांट लगाये जा रहे हैं। इससे पहले मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर तैयारियां जोरों पर थी। उनके निरीक्षण के लिए जिला प्रशासन की ओर से शहर से सटे 5 गांव चयनित किए गए थे। जहां 2 दिन पूर्व से ही साफ - सफाई जारी थी। हालांकि जनपद वासियों को यह उम्मीद थी कि मुख्यमंत्री अंडिला, वैदा, पचलढी समेत उन गांव में जाएंगे जहां कोरोना महामारी से दर्जनों लोगों की मौत हुई मौत हुई है। इस मौके पर मुख्यमंत्री के साथ कैबिनेट मंत्री सूर्य प्रताप शाही, विधायक डॉ. सत्यप्रकाश मणि त्रिपाठी, सुरेश तिवारी, काली प्रसाद, जिलाध्यक्ष अंतर्यामी सिंह भी थे। 

Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद