मजदूरों को सीधे भेजी जायेगी सहायता राशि

 दैनिक कानपुर उजाला

कानपुर। कोरोना महामारी जब से आई, तो उसका खामियाजा अच्छी संख्या में श्रमिकों को भुगतना पड़ा। साल 2020 की बात करें या फिर 2021 की। इस महामारी के कोहराम से श्रमिकों को खाने के लाले पड़ गए। उनका कहना था कि जब निर्माण कार्य ही कोई नहीं कराएगा तो उन्हें काम कैसे मिलेगा। कोरोना के खौफ की वजह से श्रमिकों की मंडी तक ठंडी पड़ गई। हालांकि अब उनके लिए राहतभरी खबर है। सरकार ने उन्हें भरण - पोषण के लिए एक हजार रुपये देने की घोषणा कर दी थी। उसी क्रम में जिले के करीब तीन लाख श्रमिकों; उ प्र भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड को 30 करोड़ रुपये की राशि दी जाएगी। शनिवार को शासन से बजट के रूप में यह राशि अपर श्रमायुक्त कार्यालय के खाते में भेज दी गई। अगले हफ्ते से श्रमिकों को यह राशि मिलने लगेगी। अपर श्रमायुक्त कार्यालय में सभी पंजीकृत श्रमिकों के खातों का अफसर ब्योरा देख रहे हैं।

पी.एफ.एम.एस. से सीधे खातों में भेजेंगे राशि

अपर श्रमायुक्त एस. पी. शुक्ला ने बताया कि पब्लिक फंड मैनेजमेंट सिस्टम यानि पी.एफ.एम.एस. पोर्टल का प्रयोग कर यह राशि श्रमिकों के खातों में सीधे ऑनलाइन भेजी जाएगी। श्रमिकों के पास इसका मैसेज भी जाएगा। हालांकि उन्हीं श्रमिकों को यह राशि मिलेगी, जिनके पास आधार कार्ड होगा। बोले, आधार नंबर का सत्यापन होने के बाद ही राशि खातों में ट्रांसफर हो सकेगी।

Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद