ऑनलाइन स्वरोजगार संगम मेले में 06 उद्यमियों को लाभान्वित करते हुए बैंकों से उपलब्ध कराया ऋण

रोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत प्राप्त लक्ष्यों की समयान्तर्गत शत - प्रतिशत प्राप्ति करें सुनिश्चित : जिलाधिकारी


> जिलाधिकारी ने लाभार्थियों से उनके द्वारा प्रस्तावित उद्यमों की विस्तृत जानकारी प्राप्त की।


अभ्यर्थियों को टूलकिट, प्रमाण - पत्र व ऋण अनुमोदन पत्र देकर सम्मानित करते जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार।
दैनिक कानपुर उजाला
उन्नाव।
 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की अध्यक्षता में ऑनलाइन स्वरोजगार संगम मेले का शुभारम्भ किया गया। मेले में कुल 31542 एम.एस.एम.ई. इकाईयों को 2505 करोड़ रुपये का लोन पूरे प्रदेश में वितरित किया गया। इसके अतिरिक्त 09 सामान्य सुविधा केन्द्रों का शिलान्यास भी मुख्यमंत्री जी द्वारा किया गया। स्वरोजगार संगम मेले में प्रदेश के समस्त 75 जनपदों ने एन.आई.सी. के माध्यम से प्रतिभाग किया। जनपद उन्नाव में जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार की अध्यक्षता में  बुधवार को स्वरोजगार संगम मेले का उद्घाटन किया गया। जिलाधिकारी ने प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना, एक जनपद एक उत्पाद वित्त पोषण सहायता योजना, विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अभ्यर्थियों को टूलकिट, प्रमाण - पत्र व ऋण अनुमोदन पत्र देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने लाभार्थियों से उनके द्वारा प्रस्तावित उद्यमों की विस्तृत जानकारी प्राप्त की तथा उन्हें स्वरोजगार के पथ पर अग्रसर होने की इस यात्रा के आरम्भ पर शुभकामनाएं दी। जिलाधिकारी ने कहा कि अत्यन्त गौरव का क्षण है कि ये लाभार्थी स्वरोजगार के द्वारा जनपद के विकास व आर्थिक समृद्धि को प्रोत्साहित करने के साथ - साथ अन्य व्यक्तियों को रोजगार प्रदान करने का माध्यम भी बनेंगे। उन्होंने ऑनलाइन लोन मेला में उपस्थित अग्रणी जिला प्रबंधक, उपायुक्त उद्योग व अन्य अधिकारियों को निर्देशित किया कि विभिन्न रोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत प्राप्त लक्ष्यों की समयान्तर्गत शत - प्रतिशत प्राप्ति सुनिश्चित करें तथा इसकी नियमित समीक्षा जिलाधिकारी द्वारा स्वयं की जाएगी। कार्यक्रम के दौरान 06 उद्यमियों को लाभान्वित किया गया, जिनमें पुष्कर मिश्रा को मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के अंतर्गत घानी ऑयल इंडस्ट्री परियोजना हेतु एस.बी.आई. बैंक द्वारा परियोजना की लागत 10.00 लाख रुपये का ऋण, कुलदीप को मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत सर्विस एजेन्सी परियाजना हेतु बैंक आफ बड़ौदा द्वारा परियोजना की लागत 10.00 लाख रुपये का ऋण, अतीक अहमद को प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अन्तर्गत मोबाईल शाॅप परियाजना हेतु पी.एन.बी. बैंक द्वारा परियोजना की लागत 10.00 लाख रुपये का ऋण, धर्मेन्द्र कुमार को प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना के अन्तर्गत एस.बी.आई. बैंक द्वारा परियोजना की लागत 03.00 लाख रुपये का ऋण, रत्नेश वर्मा को प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अन्तर्गत ट्रेडिंग परियोजना हेतु पी.एन.बी. बैंक द्वारा परियोजना की लागत 05.00 लाख रुपये का ऋण, सुश्री बेला ठक्कर को एक जनपद एक उत्पाद वित्त पेाषण योजना के अन्तर्गत जरी - जरदोजी परियाजना हेतु केनरा बैंक द्वारा परियोजना की लागत 01.00 करोड़ रुपये का ऋण वितरण किया गया। इस अवसर पर उपायुक्त उद्योग अंजनीश प्रताप सिंह, अग्रणी जिला प्रबंधक पी. के. आनन्द, सहायक आयुक्त उद्योग सुश्री रोचना श्रीवास्तव, जिला समन्वयक, पी.एन.बी., खादी ग्रामोद्योग अधिकारी व अन्य सम्बंधित उपस्थित रहे।

Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद