10 माह बाद भी आरोप सिद्ध न हो पाने पर खुशी दुबे को करें रिहा

दैनिक कानपुर उजाला  

लखनऊ। एम.एल.सी. लखनऊ स्नातक खंड तथा अखिल भारतीय ब्राह्मणोत्थान महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उमेश द्विवेदी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र प्रेषित कर कानपुर के चर्चित बिकरू काण्ड में विकास दुबे के भतीजे अमर दुबे जिसका पुलिस ने एनकाउंटर किया था की पत्नी खुशी दुबे के साथ न्याय करने के सम्बन्ध में आग्रह किया है। पत्र में कहा गया है कि विस्वस्त सूत्रों से ज्ञात हुआ है कि 10 माह पूर्व बिकरू कांड मे एक महिला खुशी दुबे जिसकी शादी 9 दिनों पहले ही हुई थी उसे गिरफ्तार किया गया और आज 10 महीने बाद भी कोई आरोप तय नहीं हों पाया | इसके बावजूद उसे जेल की सलाखों में रखा गया है। जानकारी के अनुसार गंभीर अवस्था में वह मेदांता अस्पताल, लखनऊ में जीवन - मरण के बीच संघर्ष कर रही है। ऐसी स्थिति में उसका बेहतर इलाज हो तथा यदि अब तक कोई आरोप तय नहीं हुआ है तो उसे रिहा किया जाने के सम्बन्ध में आग्रह किया है। यह पत्र भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव तथा प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल को भी प्रेषित किया गया है। 

Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद