ज्यादा आबादी, ज्यादा लम्बाई तथा विशेष महत्व के स्थलों पर बनने वाले ग्रामीण मार्गों की कार्ययोजना एक सप्ताह में उपलब्ध करायी जाए : उप मुख्यमंत्री

> सड़कों पर गड्ढे की स्टेटस रिपोर्ट मंगाकर उनको प्राथमिकता के आधार पर सही कराया जाए।

 > 03 मीटर चौड़े मार्गों को 05 मीटर चौड़ा करने के कार्यों को शीघ्र से शीघ्र कराया जाए।
उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य 8 जून, 2021 को लखनऊ आवास पर विभागीय अधिकारियों के साथ प्रदेश में निर्माणाधीन परियोजनाओं की समीक्षा बैठक के दौरान।

दैनिक कानपुर उजाला
लखनऊ।
 उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि सड़कों के सामान्य मरम्मत के कार्य तत्काल कराये जाएं। जिन मार्गों की स्वीकृतियां लेना शेष है उनकी स्वीकृतियां तत्काल ली जाएं। मुख्य मार्गों से अनजुड़ी बसावटों की स्वीकृतियां तत्काल लेते हुए कार्य कराये जाएं। उन्होंने कहा कि राज्य मार्गों, मुख्य मार्गों तथा बड़े सेतुओं का नामकरण महापुरूषों के नाम से किये जाने की भी रूपरेखा तैयार की जाए तथा लोक निर्माण के माध्यम से अधिक से अधिक लोगों को रोजगार देने की ठोस व प्रभावी रणनीति बनायी जाए। जो मार्ग 03 मीटर चौड़े बने हैं उन्हें 05 मीटर चौड़ा करने की कार्ययोजना बनाते हुए कार्यों को शीघ्र से शीघ्र कराया जाए। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य मंगलवार 8 जून को अपने सरकारी आवास 7 - कालिदास मार्ग पर आयोजित उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उप मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि लोक निर्माण विभाग के निरीक्षण भवनों की साफ - सफाई तथा शौचालयों आदि को व्यवस्थित किया जाए। ज्यादा आबादी, ज्यादा लम्बाई तथा विशेष महत्व के स्थलों पर बनने वाले ग्रामीण मार्गों की कार्ययोजना एक सप्ताह में उपलब्ध करायी जाए। इन कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर कराया जायेगा। उन्होंने निर्देश दिए कि सड़कों खासकर स्टेट हाई-वे के किनारे अधिक से अधिक वृक्षारोपण किया जाए और विशेष रूप से हर्बल प्रजातियों के पौधों को रोपित किया जाए। उन्होंने कहा कि इन पौधों के अनुरक्षण की भी पर्याप्त व्यवस्था की जाए। माइल स्टोन के परिवर्तन के कार्य को भी प्राथमिकता के आधार पर कराया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि मुख्यमंत्री जी व उनकी (उप मुख्यमंत्री) घोषणाओं के जो कार्य अवशेष हैं उन्हें प्राथमिकता के आधार पर पूरा कराया जाये। जिन सड़कों पर गड्ढे हो गये हैं उनकी स्टेटस रिपोर्ट मंगाकर उनको प्राथमिकता के आधार पर सही कराया जाए ताकि किसी दुर्घटना की आशंका न रहे। जो परियोजनाएं पूरी हो गई हैं उनके लोकार्पण तथा जिन्हें शुरू कराया जाना है उनकी सूची जल्द से जल्द तैयार कर ली जाए। जय हिन्द वीर पथ, डाॅ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम गौरव पथ, मेजर ध्यानचंद विजय पथ, स्वामी विवेकानन्द पथ जो बने हैं उनका निरीक्षण करा लिया जाए, कहीं पर कोई टूट - फूट हो तो उसकी मरम्मत करा दी जाए। हर्बल मार्गों व प्लास्टिक मार्गों के निर्माण में तत्परता बरती जाए, इससे पर्यावरण का संरक्षण भी होगा। उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग द्वारा उत्कृष्ट व उल्लेखनीय कार्य किए गए हैं, इनकी एक बुकलेट तैयार करायी जाए तथा उनकी लघु फिल्म बनाकर उनका प्रसारण कराया जाना सुनिश्चित किया जाए। इन्टर स्टेट रोड पर गेट बनाने की योजना को भी अमल में लाया जाए। उन्होंने कहा कि जो वृक्षारोपण किया जाए, रोपित पौधों के ट्री-गार्ड बनाये जाएं तथा पौधों की पर्याप्त सुरक्षा बनी रहे इसके लिए ग्राउण्ड लेवल के कर्मचारियों की जिम्मेदारी तय की जाए। उन्होंने आरओबी, फ्लाईओवर, नदी सेतु तथा लघु सेतुओं के शेष कार्यों को भी समय से पूरा कराया जाए। बैठक में प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग नितिन रमेश गोकर्ण, सचिव समीर वर्मा, विभागाध्यक्ष लोक निर्माण विभाग पी. के. सक्सेना, मुख्य अभियन्ता वी. एस. रावत, राज्य सेतु निगम  के प्रबन्ध निदेशक अरविन्द श्रीवास्तव सहित अन्य प्रमुख अधिकारी मौजूद रहे।

Popular posts from this blog

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद

उ प्र शासन ने गृह (गोपन) अनुभाग-3 के 31 मई को जारी निर्देशों को यथा संशोधित करते हुए अनलॉक 2 की गाइडलाइन्स जारी की