हल्की बारिश और हवाओं ने दी गर्मी से राहत, अब उमस बनेगी आफत

 

कानपुर में हल्की बारिश और हवाओं से मौसम खुशनुमा हो गया है और लोग सैर करने भी निकल पड़े। लेकिन उमस बढ़ने से लोग पसीने से तरबतर रहे फिलहाल अभी तेज बारिश की संभावना नहीं बन रही है।

दैनिक कानपुर उजाला

कानपुर। बीते पांच दिनों से चटक धूप और उमस से शहर के लोगों को गुरुवार की दोपहर कुछ राहत मिली। सुबह से आसमान में छाए बादल दोपहर बाद बरसे और हवाओं से मौसम खुशनुमा हो गया। हालांकि अब उमस बढ़ने से लोगों को आफत होना तय है। मौसम विभाग की मानें तो फिलहाल अभी बारिश के आसार नहीं बन रहे हैं, उत्तर पश्चिमी मानसून फिर से ठिठक गया है। मौसम विभाग के अनुसार क्षेत्रीय चक्रवात बनने की वजह से अभी हल्की बारिश होने की संभावना बनी हुई है। यह कुछ देर के लिए गर्मी से राहत दे सकता है लेकिन फिर उमस बढ़लना तय है। कमजोर मानसूनी सिस्टम बारिश के असर को प्रभावित कर रहा है। कानपुर शहर में गुरुवार की सुबह से आसमान में बादल छाए रहे और दोपहर बाद हल्की बारिश से मौसम खुशनुमा हो गया। हवाओं ने लोगों को गर्मी से राहत दी लेकिन उमस ने पसीने से तरबतर किया। थोड़ी सी बारिश में शहर मका मौसम खुशनमुमा हो गया और लोग सैर करने के लिए बाहर निकल पड़े।चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञानी डॉ. एसएन पांडेय ने बताया कि अभी तेज बारिश होने की संभावना बेहद कम है। वातावरण में मौजूद आर्द्रता में उतार चढ़ाव होगा, चक्रवाती हवा का क्षेत्र उत्तर पश्चिमी बिहार और पूर्वोत्तर उत्तर प्रदेश के ऊपर बना हुआ है। दूसरा चक्रवाती हवा का क्षेत्र बांग्लादेश और बंगाल की खाड़ी के आसपास बना हुआ है। ट्रफ रेखा कर्नाटक से केरल तट की ओर जा रही है। पश्चिमी विक्षोभ को पाकिस्तान के उत्तरी हिस्सों और इससे सटे जम्मू-कश्मीर पर चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र के रूप में देखा जा रहा है।उन्होंने बताया कि उत्तर दक्षिण ट्रफ रेखा उत्तर पश्चिमी बिहार के ऊपर बने चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र से छत्तीसगढ़, पूर्वी मध्य प्रदेश और विदर्भ होते हुए तेलंगाना तक फैली हुई है अगले 24 घंटों के दौरान, तटीय ओडिशा, पूर्वी और दक्षिण मध्य प्रदेश, विदर्भ, केरल के कई हिस्सों भारी बारिश, जबकि पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम और मेघालय में हल्की से मध्यम बारिश के आसार हैं। आंतरिक उड़ीसा, बिहार, झारखंड, मराठवाड़ा, पश्चिम मध्य प्रदेश, दक्षिण पूर्व राजस्थान, दक्षिण गुजरात, कोंकण और गोवा, तटीय कर्नाटक, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, आंतरिक कर्नाटक और तमिलनाडु में हल्की बारिश हो सकती है। पंजाब के पश्चिमी हिस्से में हल्की बारिश या धूल भरी आंधी आने की संभावना है।

Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद