बदमाशों के चंगुल से महिला अधिवक्ता मुक्त्,एक गिरफ्तार

दैनिक कानपुर उजाला

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) और सुशांत गोल्फ सिटी पुलिस ने एक करोड़ की फिरौती के लिए अपहृत महिला अधिवक्ता को बदमाशों के चंगुल से मुक्त कराते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जबकि नौ बदमाश अभी फरार हैं। पुलिस प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि छह जून की शाम करीब सात बजे सुशांत गोल्फ सिटी इलाके के सेलिब्रिटी ग्रीन निवासी उच्च न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता अनुराग शुक्ला की वकील पत्नी प्रीति शुक्ला शाम करीब सात बजे टहने के लिए घर से निकली थीं। उसी दौरान कार सवार बदमाशों ने उसका अपहरण कर लिया था। उन्होंने बताया कि अपहरणकर्ताओं ने महिला वकील की रिहाई के लिए एक करोड़ की फिरौती की मांग की थी। उन्होंने बताया कि अपहरणकर्ता जगह बदल-बदल कर प्रीति के मोबाइल फोन से ही फिरौती की रकम मांग रहा था। उन्होंने बताया कि मंगलवार रात एसटीएफ और लखनऊ पुलिस ने संयुक्त रुप से कार्रवाई करते हुए तीन टीमे गठित कर दो टीमों को फिरौती की रकम लेने आने वाले अपराधियों द्वारा बताये गये स्थानों पर लगाया गया जबकि एक टीम फिरौती मांगने वाले की लोकेशन पर नजर रखे हुए थी। प्रवक्ता ने बताया कि मोहनलालगंज इलाके में फोन की लोकेशन पर एसटीएफ ने उसी लोकेशन पर फिरौती की रक़म देने की बात तय करते हुए लोकेशन की तलाश की। उन्होंने बताया कि पीजीआई इलाके में हरकंशी गढ़ी स्थित विद्या हॉस्पिटल एवं ट्रॉमा सेंटर के पीछे एक मकान में महिला को बांधकर रखा गया था। पुलिस की टीम ने उस मकान पर दबिश देकर कमरे के बाहर खड़े व्यक्ति संतोष चौबे को गिरफ्तार कर लिया गया और पलंग से बंधी महिला वकील को मुक्त करा लिया। उन्होंने बताया कि इस मामले में अभी नौ बदमाश फरार हैं। पुलिस उनकी सरगर्मी से तलाश कर रही है।

Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद