प्रदेश के आम उत्पादकों को देश सहित विदेशी बाजार में विक्रय के बेहतर अवसर उपलब्ध कराये जाएं


मुख्यमंत्री ने आम निर्यात के सम्बन्ध में कार्ययोजना बनाकर कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिए

> टीकाकरण के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में विकास खण्ड को आधार बनाकर पायलट प्रोजेक्ट के तहत गांवों में वैक्सीनेशन किया जाए : मुख्यमंत्री

> मरीज एवं एम्बुलेंस स्वास्थ्य केन्द्रों तक आसानी एवं बाधारहित ढंग से पहुंच सकें : मुख्यमंत्री

> बाढ़ / अतिवृष्टि की स्थिति में प्रभावित क्षेत्रों में तत्काल राहत कार्य संचालित किये जाएं : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी 23 जून, 2021 को अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्च स्तरीय बैठक में राज्य में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा करते हुए।  

दैनिक कानपुर उजाला
लखनऊ।
 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने "ट्रेस, टेस्ट एण्ड ट्रीट" की नीति के अनुरूप कोविड-19 से बचाव और उपचार की व्यवस्थाओं को प्रभावी ढंग से जारी रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए लोगों को निरन्तर जागरुक किये जाने पर बल दिया। उन्होंने कहा है कि कोविड वैक्सीनेशन का कार्य तेजी से संचालित किया जाए। मुख्यमंत्री योगी बुधवार 23 जून को अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्च स्तरीय बैठक में प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि विगत 24 घण्टों में प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 208 नए मामले प्रकाश में आए हैं। इसी अवधि में 302 संक्रमित व्यक्तियों का सफल उपचार करके डिस्चार्ज किया गया। वर्तमान में संक्रमण के एक्टिव मामलों की संख्या 3,666 है। पिछले 24 घण्टों में 2,69,472 कोविड टेस्ट किये गये हैं। राज्य में अब तक 05 करोड़ 59 लाख 99 हजार 840 कोरोना टेस्ट किए गए हैं। राज्य में कोरोना संक्रमण की रिकवरी दर 98.5 प्रतिशत है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड वैक्सीनेशन अभियान तेजी के साथ संचालित किया जाए। वैक्सीनेशन का यह कार्य सतत बना रहे। टीकाकरण के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में विकास खण्ड को आधार बनाकर पायलट प्रोजेक्ट के तहत गांवों में वैक्सीनेशन का कार्य किया जाए। आगामी 01 जुलाई से क्लस्टर आधारित इस कार्ययोजना को सभी जनपदों में लागू किया जाए। 01 जुलाई, 2021 से प्रतिदिन 10 से 12 लाख कोविड वैक्सीन लगाने के लक्ष्य की पूर्ति के लिए सभी व्यवस्थाएं समय से सुनिश्चित की जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जून माह के लिए प्रदेश ने 01 करोड़ वैक्सीनेशन का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। अब तक 89 लाख से अधिक डोज एडमिनिस्टर किये जा चुके हैं। 21 जून, 2021 से प्रारंभ हुए वैक्सीनेशन के महाभियान के लगातार दूसरे दिन भी 06 लाख के निर्धारित लक्ष्य से अधिक लोगों का टीकाकरण किया गया। बैठक में अवगत कराया गया कि अब तक 02 करोड़ 72 लाख 53 हजार से अधिक वैक्सीन डोज एडमिनिस्टर किये गए हैं। बैठक में अवगत कराया गया कि प्रदेश में कार्यशील, निर्माणाधीन एवं स्वीकृत कुल ऑक्सीजन संयंत्रों की संख्या 533 है। इनमें से कार्यशील ऑक्सीजन संयंत्रों की संख्या अब बढ़कर 110 हो गई है। मुख्यमंत्री ने निर्देशित किया कि प्लाण्ट स्थापना से सम्बन्धित सभी कार्यों की नियमित समीक्षा की जाए। इस संबंध में भारत सरकार से समन्वय बनाए रखा जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस द्वारा व्यापक पेट्रोलिंग करते हुए यह सुनिश्चित किया जाए कि कहीं पर भी भीड़ एकत्र न होने पाए। लोगों द्वारा अनिवार्य रूप से मास्क का प्रयोग तथा दो - गज की दूरी का पालन किया जाए। कोरोना संक्रमण से बचाव के प्रति लोगों को निरन्तर जागरुक एवं कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए प्रेरित किया जाए। इसके लिए व्यापक पैमाने पर पब्लिक एड्रेस सिस्टम का उपयोग किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि ब्लैक फंगस के मरीजों के उपचार की व्यवस्था को निरन्तर सुदृढ़ एवं प्रभावी बनाकर रखा जाए। इसके लिए आवश्यक दवाओं की सुचारु उपलब्धता बनी रहे। उन्होंने कहा कि सामुदायिक, प्राथमिक एवं उप स्वास्थ्य केन्द्रों तथा हेल्थ एवं वेलनेस सेण्टर का सुदृढ़ीकरण कार्य युद्ध स्तर पर किया जाए। सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के सम्पर्क मार्गों को बेहतर बनाया जाए, जिससे मरीज एवं एम्बुलेंस आदि इन स्वास्थ्य केन्द्रों तक आसानी एवं बाधारहित ढंग से पहुंच सकें। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वच्छता, सैनिटाइजेशन तथा फाॅगिंग की कार्यवाही प्रभावी ढंग से जारी रखी जाए। जल - जमाव को रोकने के लिए नाले व नालियों की सफाई करा ली जाए। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि नदियों के जलस्तर की सतत माॅनीटरिंग की जाए। एन.डी.आर.एफ., एस.डी.आर.एफ. सहित आपदा प्रबंधन की सभी टीमों को सक्रिय रखा जाए। बाढ़ / अतिवृष्टि की स्थिति में प्रभावित क्षेत्रों में तत्काल राहत कार्य संचालित किये जाएं। प्रभावित परिवारों की हर सम्भव मदद की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के आम उत्पादकों को देश सहित विदेशी बाजार में विक्रय के बेहतर अवसर उपलब्ध कराये जाएं। उन्होंने आम निर्यात के सम्बन्ध में कार्ययोजना बनाकर कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि उद्यमियों की स्थानीय समस्याओं का समाधान स्थानीय स्तर पर किया जाए। उन्होंने सभी जनपदों में 15 जुलाई, 2021 तक जिला स्तरीय उद्योग बन्धु की बैठक आयोजित किये जाने के निर्देश दिये।


Popular posts from this blog

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ प्र शासन ने गृह (गोपन) अनुभाग-3 के 31 मई को जारी निर्देशों को यथा संशोधित करते हुए अनलॉक 2 की गाइडलाइन्स जारी की