मुख्यमंत्री ने आकाशीय बिजली गिरने से हुई जनहानि पर गहरा शोक व्यक्त किया



दैनिक कानपुर उजाला

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने जनपद सोनभद्र में आकाशीय बिजली गिरने से हुई जनहानि पर गहरा शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी को मृतकों के परिजनों को अनुमन्य राहत राशि तत्काल वितरित किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने इस आपदा में घायल लोगों का समुचित उपचार कराने के निर्देश भी दिए हैं। आपको बता दें कि सोनभद्र जिले में रविवार को अचानक तेज बारिश और आकाशीय बिजली गिरने से अलग - अलग थाना क्षेत्रों में तीन व्यक्तियों की मौत हो गई, जबकि तीन लोग घायल हो गए। कोन थाना क्षेत्र के कुड़वा ग्राम पंचायत में अपने बुआ की मृत्यु के पश्चात दसवीं के कार्यक्रम के समय लगभग 4 बजे तेज चमक और बारिश के दौरान आकाशीय बिजली की चपेट में आने से दो की मौत हो गई, जबकि दो लोग घायल हो गए। आनन - फानन में परिजनों ने सभी को सी.एच.सी. विंढमगंज पहुंचे, जहां दो युवकों को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया, जबकि दोनों दो अन्य घायलों की हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल रेफर कर दिया। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। दूसरी तरफ बभनी थाना क्षेत्र के डूम्भा गांव में आकाशीय बिजली गिरने से एक व्यक्ति की मौत हो गई और दूसरा व्यक्ति घायल हो गया। जनपद में आकाशीय बिजली से कुल तीन लोगों की मौत हुई है और तीन अन्‍य घायल हुए हैं। जानकारी के अनुसार कोन थाना क्षेत्र के कुड़वा ग्राम पंचायत में बारिश के दौरान आकाशीय बिजली की चपेट में आने से कृष्णा यादव उम्र 55 वर्ष पुत्र स्वर्गीय दशरथ यादव, शिव कुमार यादव 45 वर्ष पुत्र हेलाल यादव की मौत हो गई।  सुरेश यादव उम्र लगभग 50 वर्ष पुत्र तपेश्वर यादव और सुरेश कुशवाहा 60 पुत्र बिरझु कुशवाहा झुलस गए। आनन - फानन में परिजनों द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र विंढमगंज पर लाया गया। जहां मौके पर मौजूद डॉ. सत्येंद्र प्रसाद ने उक्त लाए गए चारों लोगों को देख कर दो लोगों को मृत घोषित कर दिया। वहीं, दो की हालत गंभीर देख जिला अस्पताल रेफर किया। ग्राम प्रधान सुजीत कुमार ने बताया कि विकास खंड चोपन के अंतर्गत कोन थाना क्षेत्र के  कुड़वा ग्राम पंचायत में अपने बुआ के निधन के बाद दसवीं के कार्यक्रम में घर के सारे परिजन और सगे संबंधी घाट पर बाल दाढ़ी बनवा ही रहे थे कि लगभग 4 बजे गरज चमक के साथ मूसलाधार बारिश शुरू हो गई। बारिश से इधर - उधर भागने के दौरान नीम के पेड़ के नीचे सारे लोग जा छुपे।  इसकी वजह से आकाशीय बिजली के चपेट में आ गए।

Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद