उन्नाव की राष्ट्रीय लोक अदालत में 21,313 वादों का निस्तारण

दैनिक कानपुर उजाला
उन्नाव।
राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं उ. प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ के निर्देशों के अनुपालन में शनिवार 10 जुलाई को राष्ट्रीय लोक अदालत का शुभारम्भ जनपद न्यायाधीश /अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सैय्यद माऊज बिन आसिम की अध्यक्षता में प्रातः 10 बजे हुआ। शुभारम्भ करते जनपद न्यायाधीश ने अधिक से अधिक वाद सुलह समझौते के आधार पर लोक अदालत में निस्तारित किये जाने पर बल दिया। जनपद न्यायालय उन्नाव के विभिन्न न्यायालयों के न्यायिक अधिकारियों द्वारा मोटर दुर्घटना प्रतिकार के 36 वाद, वैवाहिक 17 वाद, बैंक रिकवरी 213 वाद, 24 अन्य प्री-लिटिगेशन वाद, विविध दीवानी वाद 45 तथा आपराधिक शमनीय 6,142 वाद एवं 479 अन्य वाद का निस्तारण किया गया। राजस्व, चकबंदी तथा अन्य विभागों के द्वारा राजस्व के 14,319 वादों का निस्तारण किया गया।  ई चालान के 38 वाद निस्तारित किए गए। इस प्रकार राष्ट्रीय लोक अदालत के आयोजन में कुल 21,313 वादों का निस्तारण किया गया तथा वादों के निस्तारण से लगभग 21,313 व्यक्ति लाभान्वित हुए। आपराधिक निस्तारित वादों में 3,54,120 रुपये अर्थदंड की धनराशि वसूल की गई। मोटर दुर्घटना प्रतिकर के वादों में 1,49,26,000 रुपये प्रतिकर अवार्ड किया गया। दीवानी के अन्य मामलों में 4,81,159 रुपये मात्र एवं अन्य वादों में 8,270 रुपये मात्र की धनराशि की प्राप्ति हुई। उत्तराधिकार से संबंधित वादों में 43,35,246 रुपये के प्राधिकार पत्र जारी किए गए। बैंक ऋण वसूली के 213  प्री-लिटिगेशन वादों का निस्तारण आपसी सुलह समझौते के आधार पर किया गया जिसमें 1,60,76,234 रुपये की धनराशि अदायगी हेतु तय की गई। राष्ट्रीय लोक अदालत में प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय अयाज अहमद, अपर प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय प्रथम दिव्या भार्गव, मोटर दुर्घटना दावा न्यायाधिकरण विवेक त्रिपाठी, अपर जिला जज एहसान उल्लाह खान, अपर जिला जज विशेष न्यायाधीश (एस.सी / एस.टी. एक्ट) आनंद कुमार, अपर जिला जज अल्पना सक्सेना, अपर जिला जज (विशेष न्यायाधीश पॉक्सो एक्ट) प्रह्लाद टंडन, अपर जिला जज (विशेष न्यायाधीश ई.सी. एक्ट) महेन्द्र श्रीवास्तव, अपर जिला जज (विशेष न्यायाधीश गैंगस्टर एक्ट) संदीप गुप्ता, अपर जिला जज वीरेंद्र कुमार, अपर जिला जज दीपाली सिंह, अपर जिला जज आलोक शर्मा, अपर जिला जज एफ.टी.सी. जलाल मोहम्मद अकबर, अपर जिला जज एफ.टी.सी. कोर्ट नं 1 अवधेश कुमार, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट विराट कुमार श्रीवास्तव, सिविल जज सी.डि. सुधा सिंह, अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट श्रीमती कविता अग्रवाल, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव रघुवंश मणि सिंह, अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट संजय सिंह, अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट राजीव मुकुल पांडे, अपर सिविल जज सी.डि. पीयूष त्रिपाठी, सिविल जज सी.डि. एफ.टी.सी. श्रीमती प्रिया सक्सेना, सिविल जज (जू.डि.) दक्षिणी समीना जमील, न्यायिक मजिस्ट्रेट सौरभ शुक्ला, सिविल जज जू.डि.उत्तरी भुवन श्रीवास्तव, अपर सिविल जज (जू.डि.) सुश्री साक्षी मिश्रा, सिविल जज (जू.डि.) एफ.टी.सी. (महिलाओं के विरुद्ध अपराध) सुश्री सोनम शर्मा, ग्राम न्यायालय हसनगंज के न्यायाधिकारी वीरेश कुमार सोनकर समेत समस्त न्यायिक अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद