जेल वाॅर्डर (पुरुष), जेल वाॅर्डर (महिला), फायरमैन एवं घुड़सवार पुलिस के पद पर 5,805 अभ्यर्थियों की हुई नियुक्ति

 13,800 पदों के लिए भर्ती की कार्यवाही दिसम्बर, 2021 तक पूरी कर ली जाएगी

प्रत्येक जनपद के अभ्यर्थियों ने चयन प्रक्रिया में सफलता प्राप्त की
पूरी ईमानदारी एवं प्रतिबद्धता के साथ प्रदेश की 24 करोड़ जनता की सेवा करें नवचयनित अभ्यर्थी : मुख्यमंत्री
कोविड प्रोटोकाॅल का पालन करने के कारण सभी 5,805 सफल अभ्यर्थियों से संवाद नहीं कर सका : योगी आदित्यनाथ

> मुख्यमंत्री ने उ. प्र. पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड द्वारा जेल वाॅर्डर (पुरुष), जेल वाॅर्डर (महिला), फायरमैन एवं घुड़सवार पुलिस के पद पर चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति / चयन पत्र वितरित किए।

> मुख्यमंत्री ने स्वयं जेल वाॅर्डर (पुरुष), जेल वाॅर्डर (महिला), फायरमैन एवं घुड़सवार पुलिस के पद पर चयनित 12 अभ्यर्थियों को नियुक्ति / चयन पत्र वितरित किए।

> प्रदेश में 4.25 लाख सरकारी नौकरियां तथा 1.5 करोड़ से अधिक निजी क्षेत्र में आकांक्षियों को रोजगार मिला : मुख्यमंत्री

> निजी क्षेत्र में हमारे प्रदेश के युवाओं को बड़ी संख्या में नौकरियां और रोजगार प्राप्त हुए : मुख्यमंत्री

> पुलिस महानिदेशक से लेकर आरक्षी तक तथा शासन - प्रशासन के प्रत्येक व्यक्ति के सामूहिक प्रयास से राज्य की छवि को बदलने में सफलता मिली : मुख्यमंत्री

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी 2 जुलाई, 2021 को लोकभवन में उ. प्र. पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड द्वारा चयनित एक अभ्यर्थी को नियुक्ति पत्र प्रदान करते किए।

 
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी 2 जुलाई, 2021 को लोकभवन में उ. प्र. पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड द्वारा चयनित 12 अभ्यर्थियों के साथ।
दैनिक कानपुर उजाला
लखनऊ।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि पिछले सवा चार वर्षों में प्रदेश में सकारात्मक परिवर्तन आया है। प्रदेश में एक नयापन देखने को मिल रहा है। वर्ष 2017 के बाद प्रदेश की स्थिति को बदलता हुआ देखा जा रहा है। प्रदेश में सवा चार लाख सरकारी नौकरियां तथा इससे कई गुना अधिक निजी नौकरियां प्रदान की गईं। प्रदेश में निजी निवेश के कारण डेढ़ करोड़ से अधिक युवाओं को निजी क्षेत्र में रोजगार मिला है। इसके माध्यम से युवाओं को स्वावलम्बन की ओर अग्रसर होने का अवसर प्राप्त हुआ है। मुख्यमंत्री योगी शुक्रवार 2 जुलाई को लोकभवन सभागार में आयोजित एक कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड द्वारा जेल वाॅर्डर (पुरुष), जेल वाॅर्डर (महिला), फायरमैन एवं घुड़सवार पुलिस के पद पर चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति / चयन पत्र वितरित करने के बाद अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने पारदर्शी प्रक्रिया के तहत नवचयनित 5,805 अभ्यर्थियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दीं। उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि जेल वाॅर्डर की चयन प्रक्रिया में 20 प्रतिशत जेल वाॅर्डर (महिला) चयनित की गई हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले सवा चार वर्षों के दौरान ईमानदारी एवं पारदर्शी ढंग से डेढ़ लाख पुलिस कर्मियों की भर्ती प्रक्रिया को सम्पन्न किया गया। इससे वर्तमान प्रदेश सरकार की नई कार्य पद्धति के साथ एक नए उत्तर प्रदेश का मानचित्र प्रस्तुत हुआ है। उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड द्वारा जेल वाॅर्डर (पुरुष), जेल वाॅर्डर (महिला), फायरमैन एवं घुड़सवार पुलिस के पद की परीक्षा का परिणाम घोषित किया गया है। इस चयन प्रक्रिया की सबसे अच्छी बात यह रही कि प्रत्येक जनपद के अभ्यर्थियों ने इस प्रक्रिया में सफलता प्राप्त की। उन्होंने कहा कि वे सभी 5,805 सफल अभ्यर्थियों से संवाद करना चाहते थे, किन्तु कोविड प्रोटोकाॅल का पालन करने के कारण एक साथ सभी नवचयनित अभ्यर्थियों को बुलाना सम्भव नहीं था। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में प्रत्येक स्तर पर सुधार दिखायी दे रहा है। यह बदलाव टीम वर्क के कारण ही सम्भव हो सका है। इसमें पुलिस महानिदेशक से लेकर आरक्षी तक तथा शासन - प्रशासन के प्रत्येक व्यक्ति के सामूहिक प्रयास से राज्य की छवि को बदलने में सफलता मिली है। मुख्यमंत्री ने कहा कि "उत्तर प्रदेश इन्वेस्टर्स समिट - 2018" में राज्य को साढ़े चार लाख करोड़ रुपए के निवेश प्रस्ताव प्राप्त हुए। इसमें से अधिकतर लागू हो गए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में बेहतर कानून व्यवस्था से निवेश का माहौल बना, युवाओं के लिए रोजगार की सम्भावनाएं आगे बढ़ीं। निजी क्षेत्र में हमारे प्रदेश के युवाओं को बड़ी संख्या में नौकरियां और रोजगार प्राप्त हुए। मुख्यमंत्री ने नवचयनित अभ्यर्थियों से कहा कि नियुक्ति के पश्चात जो वेतन मिलेगा, वह प्रदेश की जनता का पैसा है। टैक्स के रूप में प्रदेश की जनता के इस सहयोग से विकास भी होता है और व्यवस्था का संचालन भी। इसलिए जनता के प्रति आप सभी की जवाबदेही है। उन्होंने नवचयनित कर्मियों से अपेक्षा की कि वे पूरी ईमानदारी एवं प्रतिबद्धता के साथ प्रदेश की 24 करोड़ जनता की सेवा करेंगे। मुख्यमंत्री ने स्वयं जेल वाॅर्डर (पुरुष), जेल वाॅर्डर (महिला), फायरमैन एवं घुड़सवार पुलिस के पद पर चयनित 12 अभ्यर्थियों को नियुक्ति / चयन पत्र वितरित किए। इनमें जेल वाॅर्डर (पुरुष) के लिए अभिषेक पाल, अतुल कुमार एवं संदीप कुमार, जेल वाॅर्डर (महिला) के लिए सुश्री प्रीति सिंह, सुश्री वैशाली देवी एवं सुश्री पूजा देवी, घुड़सवार पुलिस के लिए प्रमोद कुमार मौर्य एवं मृत्युंजय लोहिया तथा फायरमैन के लिए विवेक सिंह, शिवेन्द्र शर्मा, अजय वर्मा एवं शुभम कुमार शामिल हैं। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी को स्मृति चिन्ह एवं रुद्राक्ष का पौधा भेंट किया गया। वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि जब से वर्तमान सरकार सत्ता में आयी है, तब से प्रदेश में रूल ऑफ लाॅ का प्रत्यक्ष रूप से उदाहरण देखने को मिला है, जिसकी लोग वर्षों से प्रतीक्षा कर रहे थे। वर्तमान सरकार के कार्यकाल में प्रत्येक क्षेत्र में हुए सुधारों से एक व्यावहारिक परिवर्तन आया है। पुलिस विभाग में बड़ी संख्या में नौकरियां और बड़े पैमाने पर कार्मिकों को प्रोन्नति का अवसर मिला है। प्रदेश सरकार ने पुलिस ड्यूटी और प्रोन्नति की विसंगतियों को दूर किया। कारागार राज्यमंत्री जय कुमार सिंह "जैकी" ने कहा कि मुख्यमंत्री जी के कुशल नेतृत्व में प्रदेश तेजी से विकास की ओर अग्रसर है। समाज में भयमुक्त वातावरण स्थापित हुआ है। मुख्यमंत्री जी ने युवाओं को रोजगार से जोड़ने का जो वादा किया था, उसी क्रम में एक सार्थक पहल के रूप में यहां हम सभी भागीदार हैं। रोजगार को लेकर मुख्यमंत्री जी का अभियान तेजी से आगे बढ़ रहा है। कारागार सुरक्षा को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए कारागार विभाग में लम्बे समय से रिक्त चल रहे सुरक्षा कर्मियों की पदों पर भर्ती की कार्यवाही के आदेश दिए गए, जिसके फलस्वरूप सुरक्षा कर्मियों के पदों पर भर्ती की कार्यवाही उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड द्वारा की गई है। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक मुकुल गोयल, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं एम.एस.एम.ई. नवनीत सहगल, डी.जी. (जेल) आनन्द कुमार, ए.डी.जी. (लाॅ एण्ड आर्डर) प्रशान्त कुमार सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Popular posts from this blog

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ प्र शासन ने गृह (गोपन) अनुभाग-3 के 31 मई को जारी निर्देशों को यथा संशोधित करते हुए अनलॉक 2 की गाइडलाइन्स जारी की