चिकित्सकों के प्रति आभार व्यक्त करने का अवसर है नेशनल डाॅक्टर्स डे

हमारे चिकित्सकों ने फ्रण्टलाइन कोरोना वाॅरियर्स के रूप में मानवता की सेवा का अनुपम उदाहरण प्रस्तुत किया : योगी आदित्यनाथ


दैनिक कानपुर उजाला
लखनऊ।
 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने नेशनल डाॅक्टर्स डे के अवसर पर चिकित्सकों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं। बुधवार को जारी एक शुभकामना संदेश में मुख्यमंत्री ने कहा कि महान चिकित्सक, प्रख्यात स्वाधीनता सेनानी एवं राजनेता डाॅ. बी. सी. राॅय की जयन्ती पूरे देश में नेशनल डाॅक्टर्स डे के रूप में मनायी जाती है। यह दिवस चिकित्सकों द्वारा की जा रही समाज सेवा के लिए उनके प्रति आभार व्यक्त करने का अवसर है। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि देश की स्वास्थ्य व्यवस्था में चिकित्सकों की महत्वपूर्ण भूमिका है। राष्ट्र निर्माण में चिकित्सकों के दायित्व से सभी अवगत हैं। कोरोना काल खण्ड में डाॅक्टरों के योगदान के लिए हम सभी उनके आभारी हैं। हमारे चिकित्सकों ने फ्रण्टलाइन कोरोना वाॅरियर्स के रूप में मानवता की सेवा का अनुपम उदाहरण प्रस्तुत किया। अपने प्राणों की परवाह न करते हुए चिकित्सकों ने एक-एक मरीज की जीवन रक्षा के लिए निरन्तर कार्य किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी के सहयोग, कठिन परिश्रम और असीम प्रयासों से प्रदेश में कोविड-19 संक्रमण को नियंत्रित करने में सफलता मिली है। इसके बावजूद हमें यह याद रखना होगा कि हमारी लड़ाई एक अदृश्य शत्रु के खिलाफ है। इसलिए हर स्तर पर पूरी सतर्कता बरतने के साथ-साथ कोविड-19 से बचाव और उपचार के लिए राज्य सरकार की ‘ट्रेस, टेस्ट एण्ड ट्रीट’ की नीति को प्रभावी ढंग से जारी रखना होगा।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान हमने वैक्सीन की सुरक्षा को भी देखा। वैक्सीन के सुरक्षा कवच के परिणामस्वरूप फ्रण्टलाइन कोरोना वाॅरियर्स निश्चिन्त होकर प्रभावित लोगों की सेवा कर पाये। आने वाले समय में कोविड वैक्सीन का यही सुरक्षा कवच लक्षित आयु वर्ग के सभी लोगों तक पहुंचाने के लिए केन्द्र व राज्य सरकार पूरी प्रतिबद्धता से कार्य कर रही हैं।

Popular posts from this blog

गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना का डीपीआर  तैयार : सीईओ, यूपीडा 

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद