विभिन्न मांगों को लेकर विद्युत मीटर रीडरों ने की हड़ताल

 

दैनिक कानपुर उजाला
घाटमपुर। विभिन्न समस्याओं से जूझ रहे विद्युत मीटर रीडरों ने मंगलवार को हड़ताल कर दी।मीटर रीडरों द्वारा कार्य बहिष्कार करने से बिलिंग का कार्य ठप हो गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार ईडीडी घाटमपुर के अंतर्गत आने वाले 34 विद्युत मीटर रीडरों ने हर माह कट रही सैलरी। खराब प्रिण्टर एवं साथी मीटर रीडरो की रोकी गई सैलरी के विरोध में कार्य बहिष्कार कर बिलिंग कार्य को ठप कर दिया गया।मीटर रीडरों का कहना है, कि करीब 6-7 माह से प्रिंटर खराब होने के कारण बिल तो बन जाता है। लेकिन बिल प्रिंट नहीं होता है। जिससे उपभोक्ता नाराज होकर झगड़े पर उतारू हो जाते हैं। इस समस्या से बिलिंग कंपनी को दर्जनों बार अवगत कराया गया।लेकिन बिलिंग कंपनी द्वारा उदासीनता बरतने एवं नए प्रिंटर उपलब्ध न कराने के कारण समस्या का सामना करना पड़ रहा है। मीटर रीडरों का यह भी कहना है। कि हर माह उनकी सैलरी को काट दिया जाता है। जिससे पेट्रोल तक का खर्चा निकलना मुश्किल हो जाता है। धूप गर्मी एवं खराब मौसम में काम करने के बावजूद मेहनताना ना मिलने से विद्युत मीटर रीडरों में आक्रोश व्याप्त है। बिलिंग कंपनी द्वारा रूट कोड लागू करने से मीटर रीडरों को समस्या का सामना करना पड़ रहा है। इस संबंध में मीटर रीडर उमेश दुबे ने बताया की एक गांव में कई कई मीटर रीडरों को डाटा ट्रांसफर कर दिया गया है। जिससे बिलिंग कार्य में दिक्कतें आ रही है। मीटर रीडर सौरभ सक्सेना ने कहा है, की रूट कोड हटाकर बुक वाइस डाटा किया जाए।मीटर रीडरों द्वारा प्रतिदिन 15 सौ से 2000 तक विद्युत बिल जनरेट किए जाते हैं। बिलिंग कार्य ठप होने से विद्युत विभाग को लाखों रुपए राजस्व रुकने का सामना करना पड़ेगा।मीटर रीडर लाख समझाने के बावजूद अपनी समस्याओं को लेकर जिद पर अड़े हुए हैं।

Popular posts from this blog

कोतवाली में मादा बंदर ने जन्मा बच्चा

रात्रिकालीन कोरोना कर्फ्यू रात्रि 10 बजे से प्रातः 06 बजे तक प्रभावी रखा जाए : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने आकाशीय बिजली गिरने की घटना से हुई जनहानि पर गहरा शोक व्यक्त किया