सम्पूर्ण प्रदेश में राष्ट्रीय लोक अदालत के आयोजन हेतु कार्यवाहक मुख्य न्यायमूर्ति ने किया विधिवत उद्घाटन

राष्ट्रीय लोक अदालत में 354 वादों का निस्तारण

 
सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश और NALSA के कार्यकारी अध्यक्ष न्यायमूर्ति यू. यू. ललित, राष्ट्रीय लोक अदालत की कार्यवाही देखते हुए।

दैनिक कानपुर उजाला
प्रयागराज।
उच्च न्यायालय विधिक सेवा समिति, उच्च न्यायालय इलाहाबाद के सचिव अशोक कुमार श्रीवास्तव, एच.जे.एस. द्वारा अवगत कराया गया है कि कार्यवाहक मुख्य न्यायमूर्ति / मुख्य संरक्षक, उ. प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण मुनीश्वर नाथ भंडारी एवं उच्च न्यायालय विधिक सेवा समिति के अध्यक्ष न्यायमूर्ति प्रीतिंकर दिवाकर के निर्देशानुसार उच्च न्यायालय विधिक सेवा समिति के तत्वाधान एवं महानिबन्धक की उपस्थिति में शनिवार 10 जुलाई को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रातः 9:45 बजे सम्पूर्ण प्रदेश में राष्ट्रीय लोक अदालत के आयोजन हेतु विधिवत उद्घाटन किया गया। कार्यवाहक मुख्य न्यायमूर्ति / मुख्य संरक्षक, उ. प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार उच्च न्यायालय इलाहाबाद में गठित छः लोक अदालत पीठ न्यायमूर्ति डॉ. कौशल जयेन्द्र ठाकर, न्यायमूर्ति विवेक अग्रवाल, न्यायमूर्ति सौमित्र दयाल सिंह, न्यायमूर्ति सलिल कुमार राय, न्यायमूर्ति पंकज भाटिया एवं न्यायमूर्ति सौरम श्याम शमशेरी द्वारा राष्ट्रीय लोक अदालत में 354 वादों का निस्तारण आपसी सुलह - समझौते के आधार पर कराया गया तथा पक्षकारों को 9,20,38,938 /- (नौ करोड़ बीस लाख अड़तीस हजार नौ सौ अड़तीस रुपये मात्र) प्रतिकर के रूप में धनराशि दिलायी गयी।

Popular posts from this blog

जनपद के समस्त विद्यालय कार्य योजना बनाकर जीपीडीपी में अपलोड करते हुए डिमांड भेजें: विजय किरन आनंद

उ प्र सहकारी संग्रह निधि और अमीन तथा अन्य कर्मचारी सेवा (चतुर्थ संशोधन) नियमावली, 2020 प्रख्यापित

उ प्र शासन ने गृह (गोपन) अनुभाग-3 के 31 मई को जारी निर्देशों को यथा संशोधित करते हुए अनलॉक 2 की गाइडलाइन्स जारी की